Friday , November 24 2017
Home / Bihar News / बिहार सरकार के बजट ने दिखाया मुल्क को आईना:

बिहार सरकार के बजट ने दिखाया मुल्क को आईना:

images(7)

पटना। बिहार के वित्त मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने आज विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2016-17 के लिए बिहार का बजट पेश किया. यह उनका पहला बजट था। पूरा बजट एक लाख 44 हजार 696 करोड़ का है जिसमें शिक्षा पर सबसे अधिक राशि आवंटित की गयी है, वहीं स्वास्थ्य को दूसरे नंबर पर रखा गया है।

इस बजट में एक और खास बात यह हैं कि सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 35 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा. एससी-एसटी परिवारों के लिए जमीन का प्रावधान है. बीपीएल परिवारों को शौचालय निर्माण के लिए 12 हजार रुपए दिया जाएगा।
हर जिले में पारा मेडिकल इंस्टीट्यूट खोले जाएंगे. वहीं प्रवासी मजदूरों के स्लीपर क्लास का भाड़ा सरकार देगी. राज्य में पांच नए मेडिकल कॉलेज खेला जाएगा. हर घर में साफ पानी पहु्ंचाने पर भी जोर दिया गया है।

बजट की खास बातें –
14 जिलों में 2150 तालाबों का निर्माण होगा
बजट में नीतीश के 7 निश्चय पर जोर दिया गया है
7000 किलोमीटर सड़क निर्माण का लक्ष्य रखा गया है
ग्रामीण सड़कों का निर्माण करीब 970 करोड़ रुपए की लागत से किया जाएगा
पुल-पुलियों के निर्माण के लिए 469 करोड़ रुपए आवंटित
नदियों को जोड़ा जाएगा जिससे सूखे से बचा जा सकता है
80 किलोमीटर नए बांध निर्माण का लक्ष्य रखा गया है
स्टार्ट अप के लिए 500 करोड़ रुपए की मदद दी जाएगी
कृषि उत्पादकता बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा
कृषि विश्‍वविद्यालय की स्थापना किशनगंज में की जाएगी
हर जिले में एएनएम स्कूल खोले जाएंगे

हर मेडिकल कॉलेज में एक नर्सिंग सेंटर होगा
सरकार किसानों को तकनीकी प्रशिक्षण देगी
शिक्षा विभाग के लिए 21 हजार करोड़ से ज्यादा की राशि
योजना विभाग के लिए 3500 करोड़ की राशि
एससी एसटी परिवारों को जमीन का प्रावधान
शहरों के नगर निगमों के बजट को बढाया जाएगा
ग्रामीण स्ट्रीट लाइट योजना पर भी विशेष जोर ​दिया जाएगा
पंचायतों में मनरेगा के जरिए भवनों के निर्माण को मंजूरी
ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने पर सरकार का जोर होगा
शौचालय निर्माण के लिए बीपीएल परिवारों को 12 हजार रुपए की मदद मिलेगी
उच्च शिक्षा के लिए सरकारी सहायता में इजाफा किया जाएगा
मुख्यमंत्री बालक और बालिका साइकिल योजना पर जोर दिया जाएगा
पांच प्राइवेट यूनिवर्सिटी की स्थापना की जाएगी
पर्यावरण और वन विभाग के लिए 242.27 करोड़ रुपए दिए जाएंगे

TOPPOPULARRECENT