Monday , December 11 2017

बिहार: सुन्नी-शिया वक्फ बोर्ड गरीबों और जरूरतमंदों के मदद की तैयारी में

पटना: सात दशक के बाद बिहार की सुन्नी और शिया वक्फ बोर्ड अब गरीबों और जरूरतमंदों की मदद की तैयारी में व्यस्त दिख रही है। राज्य में वक्फ़ की हजारों करोड़ के कीमत की संपत्ति है, फिर भी वक्फ़ के जायदाद से गरीबों को कोई लाभ नहीं होता है। लेकिन अब बोर्ड ने घोषणा की है कि अगले कुछ महीनों में बोर्ड जरूरतमंदों की मदद करने में सक्षम हो जाएगा।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार वक्फ बोर्ड के वक्फ़ स्टेट अंजुमन इस्लामिया हॉल की फिर से निर्माण के निर्णय के बाद बोर्ड का हौसला बुलंद हुआ है। पहली बार सरकार की ओर से किसी वक्फ़ स्टेट की विकास के लिए 35 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई है। सुन्नी वक्फ़ बोर्ड के अनुसार अंजुमन इस्लामिया हॉल का निर्माण हो जाने से वक्फ बोर्ड जहां छात्रों के लिए मुफ्त कोचिंग का प्रबंधन करेगी, वहीं उसकी आय से गरीब मुस्लिम आबादी की मदद की राह भी प्रशस्त की जाएगी।

उधर शिया वक्फ बोर्ड को भी सरकार ने एक करोड़ रुपये रिबोल्विंग फंड के रूप में दिया है। शिया वक्फ बोर्ड उन पैसों से बाजार का निर्माण करने की तैयारी में है।

गौरतलब है कि सरकार की ओर से शिया और सुन्नी वक्फ बोर्ड के अनुदान में वृद्धि भी किया गया है। अब बोर्ड को सरकार इतना पैसा प्रदान कराएगा, जिस से बोर्ड अपने कर्मचारियों का वेतन समय पर भुगतान कर सके। वक्फ बोर्ड के अनुसार उनकी अधिकांश भूमि पर भू-माफिया का कब्जा है, फिर भी अनुदान में वृद्धि और खाली जमीन पर निर्माण कार्य होने से वक्फ़ की आय में कई गुणा बढ़ोतरी होगा और इसका सीधा असर वक्फ़ के कामकाज पर पड़ेगा ।

TOPPOPULARRECENT