Monday , September 24 2018

बिहार हुकूमत की मंशा ठीक नहीं, नीतीश का बयान हैरानी भरा : हनीफ हिंगोरा

गुजरात के कारोबारी हनीफ हिंगोरा ने कहा कि उनके बेटे सोहेल हिंगोरा का यरगमाल करने वाले लोगों में से एक भी बिहार पुलिस के हाथ नहीं आया है। इसके बावजूद वजीरे आला नीतीश कुमार का यह बयान कि यरगमाल में किसी राजनेता का नाम नहीं आया, हैरान

गुजरात के कारोबारी हनीफ हिंगोरा ने कहा कि उनके बेटे सोहेल हिंगोरा का यरगमाल करने वाले लोगों में से एक भी बिहार पुलिस के हाथ नहीं आया है। इसके बावजूद वजीरे आला नीतीश कुमार का यह बयान कि यरगमाल में किसी राजनेता का नाम नहीं आया, हैरानी भरा है। इससे बिहार पुलिस की तहक़ीक़ात की मंशा पर सवालिया निशान खड़ा होता है। हिंगोरा ने कहा कि सोहेल का यरगमाल करने के लिए 16 लोग दमन आए थे।

उनका एक सरगना है। उसके ऊपर भी एक बॉस है। फिरौती के लिए फोन करने वाले चार लोग थे। इनके पकड़े जाने के बाद ही यह पता चलेगा कि यरगमाल के पीछे कोई व्हाइट कॉलर है या नहीं। बदमाश जब पकड़े ही नहीं गए हैं तो कौन बताएगा कि उनका बॉस कौन है? सोहेल के यरगमाल में शामिल मुजरिमों और उनके सरगना की शिनाख्त कर तस्वीर तक दो महीने पहले बिहार पुलिस को दे दी गई है।

सरगना की तस्वीर रंजीत सिंह की शादी की सीडी में भी है। सोहेल ने भी उसकी शिनाख्त की है, लेकिन जहां तक उनकी जानकारी है कि अभी तक बिहार की सीआईडी उनमें से किसी को भी गिरफ्तार नहीं कर पाई है। दमन पुलिस पटना जाकर उनको नहीं पकड़ पाएगी। इसलिए मैंने बिहार के वजीरे आला को दो बार खत भी लिखा वे मदद करें, लेकिन उसका भी जवाब नहीं आया। हिंगोरा ने कहा कि मैं परेशान हूं। आसानी से नहीं छोड़ूंगा।

TOPPOPULARRECENT