Friday , December 15 2017

बीकापुर में सपा की जीत पे क्या ओवैसी लगा पायेंगे ब्रेक

आज उत्तर प्रदेश के बीकापुर असेंबली के बाई इलेक्शन में मीम के सदर अस्सदुद्दीन ओवैसी पहली बार सूबे में किसी चुनावी सभा को ख़िताब करेंगे .अब तक बीकापुर में मुकाबला सपा और भाजपा के बीच था लेकिन ओवैसी के आने से सपा की कामयाबी की उम्मीदों पे पानी फिर सकता है वही भाजपा के खेमे में ख़ुशी का माहौल है .

बीकापुर में मुस्लिम आबादी करीब 21 परसेंट है जबकि दलित वोटर की तादात 19 परसेंट है असेम्बली हलके में यादव जाति की तादात भी ठीकठाक है चुकि बसपा बाई इलेक्शन में हिस्सा नही ले रही है इसलिए ओवैसी को दलित वोटर से ख़ास उम्मीद है मीम ने जनरल सीट से दलित उम्मीदवार प्रदीप कुमार कोरी को मैदान में उतारा है पार्टी को पूरी उम्मीद है जय मीम जय भीम का नारा बीकापुर में करिश्मा करेगा .

समाजवादी पार्टी ने बाई इलेक्शन जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है लेकिन सपा ओवैसी फैक्टर पे भी निगाह बनाये हुये है .सपा भी जानती है ओवैसी की पतंग उड़ने से सबसे ज्यादा झटका सपा के लिए होगा .


सपा का गढ़ है बीकापुर असेंबली हल्का

उत्तर प्रदेश की बीकापुर असेम्बली हल्का समाजवादी पार्टी का पुराना गढ़ है सपा यहाँ से चार बार इलेक्शन जीतने में कामयाब रही है

मित्रसेन यादव की मौत के बीकापुर असेंबली सीट खली हुई है इसलिए सपा को उनकी मौत से हमदर्दी की उम्मीद है .

मित्रसेन यादव का इलाके की अवाम पे अच्छी पकड़ रही . सपा ने मित्रसेन यादव के बेटे आनंद सेन यादव को उम्मीदवार बनाया है इस लिए अवाम की हमदर्दी भी मित्रसेन के बेटे आनंद सेन यादव के साथ है .

.

TOPPOPULARRECENT