Monday , December 18 2017

बीजेपी अब एख्तेलाफ़ात वाली पार्टी, कीर्ति ‘हीरो’, वजीरे आजम दें इस्तीफा : शत्रुघ्न सिन्हा

पटना : भाजपा एमपी शत्रुघ्न सिन्हा ने बुध को कीर्ति आजाद का हिमायत करते हुए कहा कि मरकज़ी फाइनेंस वज़ीर अरुण जेटली को वजीरे आजम नरेंद्र मोदी की ‘‘सलाह के मुताबिक’ पार्टी के सीनियर लीडर लालकृष्ण आडवाणी के मुताबिक इस्तीफा दे देना चाहिए जिन्होंने हवाला मामले में इस्तीफा दे दिया था और बेदाग निकले थे। अनेक मुद्दों को लेकर भाजपा कियादत की तनकीद करते रहे साबिक़ सिन्हा ने इस मामले में भी निशाना साधते हुए कहा, अलग तरह की पार्टी एख्तेलाफ़ात वाली पार्टी बन गयी है।

सिन्हा ने दरभंगा के पार्टी एमपी कीर्ति आजाद की तारीफ ‘हीरो ऑफ द डे’ कह कर की, जिन्होंने डीडीसीए में बदउनवान के मामले में जेटली को घेरा है। उन्होंने पार्टी को आगाह किया कि बदउनवान के खिलाफ लड़ रहे किसी साथी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए और यह कदम उल्टा पड़ सकता है। सिन्हा ने ट्वीट किया, ‘‘फाइनेंस वज़ीर के लिए यह मुद्दा सियासी तौर से लड़ा जाना चाहिए, न कि कानूनी तरीके से।

जैसा कि हमारे वजीरे आजम ने सलाह दी है, हमारे फाइनेंस वज़ीर आडवाणीजी का नक्से कदम पर चल कर पाक-साफ निकल सकते हैं.’ वह जाहिर तौर पर हवाला मामले में मुल्ज़िम के तौर पर नाम आने के बाद इस्तीफा देने के आडवाणी के फैसले का ज़िक्र कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘कीर्ति आजाद, आज के हेरो! दोस्तों से दरख्वास्त है कि किसी साथी के खिलाफ बिना सोचे समझे, ताक़त से कार्रवाई नहीं की जाये, जो बदउनवान के खिलाफ जद्दो-जहद कर रहा है। सिन्हा ने एक और ट्वीट किया, ‘‘अक्सर न्यूटन के तीसरे दस्तूरुल अमल की बात करता हूं। बेवक़्त कार्रवाई पर उल्टी राय हो सकती है। गम की बात है कि अलग तरह की पार्टी एख्तेलफ़ात वाली पार्टी बन गयी है। ‘
ओपोजीशन ने मंगल को दावा किया था कि मोदी ने जेटली को इशारा दिया है कि डीडीसीए तनाजे के मद्देनजर वह इस्तीफा दे दें और हवाला मामले में आडवाणी जी की तरह की मिसाल पेश करें। भाजपा ने इस तरह की बात को खारिज कर दिया था। मोदी ने दरअसल भाजपा पार्लियामानी बोर्ड की एक बैठक में कहा था कि फाइनेस वज़ीर अपने खिलाफ ओपोजीशन की तरफ से लगाये गये बदउनवान के इल्ज़ाम में उसी तरह बेदाग निकलकर आएंगे, जैसे आडवाणी हवाला मामले में निकले थे।

TOPPOPULARRECENT