बीजेपी आईटी सेल के लिए काम करने वाले का दावा, सिर्फ़ फैलाते हैं फ़र्ज़ी खबरें

बीजेपी आईटी सेल के लिए काम करने वाले का दावा, सिर्फ़ फैलाते हैं फ़र्ज़ी खबरें
Click for full image

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक शख्स बीजेपी की आईटी सेल का पूर्व कर्मचारी होने का दावा करता दिख रहा है। महावीर नाम का शख्स वीडियो में बताता है कि कैसे बीजेपी की आईटी सेल में झूठी खबरें फैलाने का काम किया जाता है। वीडियो में ध्रुव राठी नाम का यूट्यूबर महावीर का साक्षात्कार लेता है। महावीर यूट्यूबर राठी से दावा करता है कि वह 2012 से 2015 के बीच बीजेपी की आईटी सेल में काम कर रहा था। महावीर बताता है कि बीजेपी की आईटी सेल में 150 लोग काम करते हैं, उन्हें प्रधानमंत्री से मिलने का मौका मिलता है और उनके द्वारा विशेष कंटेट को ट्रोल किया जाता है और फिर उसे निचली रैंक के सद्स्यों के द्वारा शेयर किया जाता है। महावीर बीजेपी की आईटी सेल में उन अन्य 50 में शामिल रहने का दावा करता है और बताता है कि उनका नंबर ‘सुपर 150’ लोगों के बाद आता है।

 

महावीर से जब उसकी जिम्मेदारी से जुड़ा सवाल पूछा गया, तो उसने बताया कि उसका मुख्य काम ‘ट्रोल’ करने का था। महावीर ने बताया कि वह खबरों के कंटेट में दलित, हिंदू और मुसलमान जैसे शब्दों को जोड़ देता था। महावीर ने बताया कि एक बार खबर में फेक कंटेट जोड़ने के बाद वह उसे मुहैया कराए गए लैपटॉप और मोबाइल फोन से फेसबुक और व्हॉट्सएप पर उसे शेयर करता था। इसके लिए एक शख्स को एक लैपटॉप और कम से कम 10 मोबाइल फोन मुहैया कराए गए थे ताकि एक आदमी 10 अलग-अलग व्हॉट्सएप अकाउंट चला सके।

महावीर ने बताया कि जब ज्यादा मात्रा में फेक कंटेट शेयर हो जाता था तो अपने आप ही वह सोशल मीडिया में ट्रेंडिंग में आ जाता था। महावीर से जब पूछा गया कि भाजपा के मुकाबले कांग्रेस की आईटी सेल में क्या अंतर हैं तो उसने जवाब दिया कि दोनों पार्टियों की आईटी सेल तकरीबन एक जैसी ही है। उसने कहा कि कांग्रेस डर की राजनीति करती है तो भाजपा जाति के आधार पर भेदभाव करने की राजनीति करती है। महावीर के साक्षात्कार वाला वीडियो ध्रुव राठी के यूट्यूब चैनल पर शेयर किया गया है। करीब 30 मिनट और 28 सेकेंड के वीडियो में महावीर ने ध्रुव राठी को ये बातें बताईं।

Top Stories