Saturday , November 18 2017
Home / India / बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमला करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा- अमित शाह

बीजेपी और आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमला करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा- अमित शाह

तिरुवनंतपुरम। BJP अध्यक्ष अमित शाह ने केरल में बीजेपी और RSS कार्यकर्ताओं पर हमले के लिए सत्तारूढ़ माकपा को जिम्मेदार ठहराते हुए रविवार को कहा कि प्रदेश में उनकी पार्टी की प्रगति को हिंसा से नहीं रोका जा सकता।

शाह ने कहा कि यह शर्म की बात है कि सर्वाधिक हत्याएं कन्नूर में हुईं जो मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन का गृह जिला है। उन्होंने रविवार की सुबह तिरुवनंतपुरम में पार्टी के प्रदेश कार्यालय के नए भवन का शिलान्यास करने के बाद कहा, ‘अगर मुख्यमंत्री और उनकी पार्टी को लगता है कि वे डरा-धमकाकर भाजपा के विकास को रोक सकते हैं तो वे गलतफहमी में हैं।’

शाह ने कहा कि बीजेपी को केरल में अपनी गतिविधियां चलाने में बहुत कठिनाई होती है क्योंकि माकपा नीत एलडीएफ के सत्ता में आने के बाद से भाजपा-संघ कार्यकर्ताओं पर हमले और हिंसा बढ़ गई है। उन्होंने कहा, ‘इस बार भी एलडीएफ सरकार के सत्ता में आने के बाद माकपा द्वारा राजनीतिक कारणों से एक-एक करके संघ और भाजपा के 13 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई।’

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी भाजपा-आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमलों के लिए जिम्मेदार लोगों को कानून के मुताबिक अधिक से अधिक सजा दिलाने के लिए जरूरी कदम उठाएगी। उन्होंने कहा, ‘यह ना सोचिए कि केवल कम्युनिस्ट सरकार के सत्ता में होने से भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा फैलाने वालों को छोड़ दिया जाएगा। हम कानूनी प्रक्रिया से सुनिश्चित करेंगे कि हमलावरों को अधिक से अधिक सजा दी जाए।’

शाह ने कहा कि नए दफ्तर का शिलान्यास भविष्य में केरल में भाजपा नीत सरकार के गठन का भी शिलान्यास है। उन्होंने कहा, ‘केरल में भाजपा आगे बढ़ने के लिए तैयार है। समाज के सभी वर्गों में भगवा पार्टी को मिली स्वीकार्यता से बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार राज्य की सत्ता में आएगी जहां माकपा नीत एलडीएफ और कांग्रेस नीत यूडीएफ बारी बारी से सरकार में आते रहे हैं।’

शाह ने कहा कि कई नेताओं और कार्यकर्ताओं के परिश्रम की वजह से पार्टी जनसंघ के समय में 10 सांसदों से आगे बढ़ कर आज दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बन गयी है जिसके 11 करोड़ से ज्यादा सदस्य हैं। समारोह में BJP के प्रदेश अध्यक्ष कुमानम राजशेखरन और पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा विधायक ओ राजगोपाल समेत कई नेताओं ने भाग लिया।

TOPPOPULARRECENT