Friday , June 22 2018

बीजेपी को नहीं भूलना चाहिए कि उनकी सरकार के मुख्यमंत्री समेत सात नेता भ्रष्ट कारनामों के कारण जेल गये थे: सिद्धरामय्या

मैसूरु।प्रदेश की जनता इस बात को अभी नहीं भूली है कि राज्य में किस सत्तासीन दल के राजनेता भ्रष्टाचार के आरोप में जेल जाकर आए हैं। मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने यह बात कही।

शहर में सोमवार को केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारामन्न के प्रदेश सरकार को देश की सबसे भ्रष्ट सरकार होने के बयान पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा नेताओं को नहीं भूलना चाहिए कि उनकी सरकार के मुख्यमंत्री समेत सात से अधिक मंत्री जेल गए थे।

इन भ्रष्ट कारनामों के कारण साल 2012 के विधानसभा चुनाव में भाजपा सत्ता से बेदखल हो गई। भाजपा के भ्रष्टाचार से तंग आकर ही जनता ने कांग्रेस को सत्ता सौंपी थी। हाल में हुए नंजनगुड तथा गुंडलपेट क्षेत्रों के उपचुनाव में भी भाजपा को आईना दिखाने के लिए काफी हैं।

उन्होंने कहा कि सूखे के प्रबंधन पर राज्य सरकार से श्वेत-पत्र जारी करने की मांग करने के बजाय भाजपा नेता केंद्र सरकार से राज्य के लिए अधिक अनुदान जारी कराएं। क्या भाजपा नेताओं को नहीं पता कि राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से 4,200 करोड़ रुपए का अनुदान मांगा था और मिला मात्र 1,6 00 करोड़ रुपया।

जबकि भाजपा शासित राज्यों को मुंह मांगा अनुदान मिला है। इस पर भाजपा के नेता क्यों मौन हैं? सीएम ने कहा कि 1600 करोड़ रुपए में से 80 फीसदी अनुदान का उपयोग किया जा चुका है।

राज्य का प्रतिनिधित्व करने वाले भाजपा के 17 सांसद तथा तीन केंद्रीय मंत्री राज्य सरकार पर आरोप लगाने के बजाय केंद्र से 3,600 करोड़ रुपए का अनुदान दिलाने का प्रयास करें।

TOPPOPULARRECENT