बीजेपी को मुट्ठी भर वोट ही मिलेंगे: उमर

बीजेपी को मुट्ठी भर वोट ही मिलेंगे: उमर
जम्मू-कश्मीर के वज़ीर ए आला उमर अब्दुल्ला ने आज भरोसा जाहिर किया कि उनकी पार्टी नेशनल कांफ्रेंस रियासत की आइंदा विधानसभा इंतेखाबात में अच्छा मुज़ाहिरा करेगी| उमर ने इम्कान ज़ाहिर किया कि भाजपा को वादी में ‘‘मुट्ठी भर वोट’’ ही मिले

जम्मू-कश्मीर के वज़ीर ए आला उमर अब्दुल्ला ने आज भरोसा जाहिर किया कि उनकी पार्टी नेशनल कांफ्रेंस रियासत की आइंदा विधानसभा इंतेखाबात में अच्छा मुज़ाहिरा करेगी| उमर ने इम्कान ज़ाहिर किया कि भाजपा को वादी में ‘‘मुट्ठी भर वोट’’ ही मिलेंगे|

उमर ने उन्हें और उनकी सरकार को छह साल तक ताइद देने के लिए कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी की तारीफ की और रियासत की कांग्रेस कमेटी के सदर सैफुद्दीन सोज़ समेत कांग्रेस के कुछ ऐसे लीडरों की तन्कीद भी की जिन्होंने रियासत में ‘‘कभी भी नेशनल कांफ्रेंस को मुस्तहकम नहीं होने दिया’’|

सीएम ने ‘हेडलाइंस टुडे’ न्यूज चैनल पर करण थापर को दिए गए एक इंटरव्यू में कहा कि, ‘‘वादी में लोग अगर भाजपा को वोट देंगे तो यह देखकर मुझे काफी हैरत होगी| उन्हें मुट्ठी भर वोट ही मिलेंगे| कुछ यहां, कुछ वहां वादी में भाजपा का कोई बड़ा असर नहीं होगा|’’

उमर ने इंतेखाबात में अपनी पार्टी के इम्कानात को लेकर भी भरोसा जाहिर किया. यह पूछे जाने पर कि क्या इंतेखाबी नतीजे हैरत अंगेज़ होंगे, उन्होंने कहा, ‘‘मैं यकीनी तौर पर इसे लेकर पुर उम्मीद हूं|’’ उन्होंने कहा कि उनकी हुकूमत ने अपनी मुद्दतकार में तरक्की के लिए कई कदम उठाए हैं| उन्होंने कहा, ‘‘गुजश्ता छह सालों में दहशतगर्दी सबसे निचले सतह पर है| अच्छी खासी तरक्की हुई है रियासत के मुख्तलिफ हिस्सों से मुसबत रद्दे अमल मिल रही है|

यूपीए सरकार की तरफ से लागू किए गए Food Safety Law को रियासत में लागू न करने को लेकर हाल ही में सोनिया गांधी की तरफ से की गई जम्मू-कश्मीर सरकार की तन्कीद से जुड़े एक सवाल के जवाब में उमर ने कहा कि उनके करीबी लोगों ने इस मामले में उन्हें गलत तरीके से मालूमात दिये थें |

उमर ने कहा, ‘‘मैं इसे साफ कर दूं, यह माज़ूरी नहीं थी| कानून को लागू न करना एक सोचा-समझा फैसला था क्योंकि इससे 25 लाख शहरी जम्मू-कश्मीर सरकार की तरफ से दिए जाने वाले राशन से मरहूफ हो जाते|’’ उमर ने कहा, ‘‘जम्मू-कश्मीर मुल्क का इकलौता रियासत है जो फुड सेफटी ला की वजह से दिक्कतों का सामना करता|

सबसे बदकिस्मती की बात यह है कि सोनिया गांधी के करीबी लोग इस हकीकत से बखूबी वाकिफ हैं|’’ उमर ने कहा कि साबिका वज़ीर अंबिका सोनी ने अपने कैबिनेट के साथी मुलाज़िम के वी थॉमस से कहा था कि जम्मू-कश्मीर को इसकी वजह से परेशानियों का सामना न करना पड़े|

उमर ने कहा, ‘‘सोनिया गांधी के लिए मेरे मन में बहुत एहतेराम है| वह पिछले छह साल से हमारी सरकार को ताईद कर रही हैं जिसके लिए मैं उनका शुक्रगुज़ार हूं|’’ उमर ने कहा, ‘‘बदकिस्मती से, उनके करीबी लोग उन्हें गलत इत्तेला दे रहे थे| यह सोचा-समझा फैसला था और जम्मू-कश्मीर में Food Safety Law लागू न करने का मुझे कोई अफसोस नहीं है|’’

Top Stories