Monday , November 20 2017
Home / Bihar News / बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस- वामदलों को महागठबंधन के लिए पहल करना होगा- नीतीश कुमार

बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस- वामदलों को महागठबंधन के लिए पहल करना होगा- नीतीश कुमार

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भाजपा के चुनावी मुहिम को रोकने के लिए बिहार जैसा महागठबंधन पर जोर देते हुए कांग्रेस और वामदलों से इसके लिए पहल करने को कहा है। यहां आयोजित लोकसंवाद के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की जीत का मुख्य कारण उसके खिलाफ बिहार जैसा महागठबंधन की कमी का होना है।

अगर आप उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बसपा के मत को जोडें तो वह भाजपा से 10 प्रतिशत अधिक है। उन्होंने भाजपा की राजनीतिक मुहिम को रोकने के लिए बिहार जैसा महागठबंधन को समाधान बताते हुए कहा कि इसको लेकर कांग्रेस और वामदलों को पहल करनी चाहिए।

नीतीश ने कहा कि बडा दल होने के कारण यह दायित्व कांग्रेस का बनता है कि वह सभी गैर भाजपायी दलों को एक प्लेटफार्म पर लाएं। उन्होंने इस संबंध में कुछ वामदल नेताओं से बात की थी और हम आशा करते हैं कि वे वर्ष 2019 में भाजपा नीत राजग को सत्ता से बाहर करने के लिए पहल करें।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने राष्ट्रीय स्तर पर बिहार जैसा महागठबंधन के महासफल होने की बात करते हुए कहा कि पांच राज्यों का मिश्रित परिणाम होने के बावजूद भाजपा बेवजह आनंदविभोर हो रही है।

पांच राज्यों में हुये विधानसभा चुनाव के संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि चुनाव हर साल कहीं न कहीं होता है। भाजपा तो दिल्ली में हारी, बिहार में हारी थी। पांच राज्यों के चुनाव में दो जगह सफलता मिली, पंजाब में हार गये, गोवा में बड़ी पार्टी कांग्रेस थी और मणिपुर में भी बड़ी पार्टी कांग्रेस थी।

उन्होंने कहा कि यह बात अलग है कि दो राज्यों मंें जोडतोड की बदौलत सरकार बनाने में कामयाब हो गये लेकिन जो जनता का बहुमत है अगर उसके हिसाब से आप देखेंगे तो एक राज्य में भारी बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनी और दो राज्यों में सबसे बडी पार्टी उभरकर सामने आयी। अलग अलग राज्यों में अलग अलग परिस्थिति होती है।

TOPPOPULARRECENT