Tuesday , November 21 2017
Home / India / बीफ़ की अफ़वाह के बाद होटल के मैनेजर को पुलिस के सामने भीड़ पीटती रही

बीफ़ की अफ़वाह के बाद होटल के मैनेजर को पुलिस के सामने भीड़ पीटती रही

बीते कल राजस्थान के जयपुर के होटल में बीफ़ बेचने के अफवाह मामले में आज एक खुलासा हुआ है। होटल के मालिक ने पुलिस पर आरोप लगाया कि गुस्साए लोगो को शांत करने के लिए पुलिस उनको भीड़ के पास ले गयी थी और पुलिस के सामने ही भीड़ ने उनको थप्पड़ मारे और मारपीट की।

दरअसल रविवार को जयपुर सिंधी कैंप स्थित होटल हयात रब्बानी में बीफ बेचने और बनाने की अफवाह उड़ाई गयी थी। अफवाह के बाद पुलिस ने होटल को सील कर दिया था और होटल के मालिक व् अन्य कर्मचारियों को गिरफ़्तार कर लिया था।

घटना के कुछ दी देर बाद जयपुर के मेयर अशोक लाहोटी ने बीजेपी मीडिया सेल के व्हाट्सऐप ग्रुप पर एक मैसेज भेजा, जिसमें लिखा था कि गायों को बीफ खिलाने के कारण होटल सील किया गया है। होटल के मालिक नईम रब्बानी ने सोमवार को अपने स्टाफ के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। रब्बानी ने कहा, “दादरी कांड होते-होते रह गया।” पुलिस ने बताया कि जो मीट जब्त किया गया था वह चिकन लगता है और इसे जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेज दिया गया है।

हालांकि, प्रेस कॉन्फ्रेंस में रब्बानी ने कहा कि रविवार को होटल में स्टाफ के नौ लोगों के लिए स्पेशल चिकन बनाया जा रहा था। इस चिकन को भीड़ ने बीफ समझ लिया। होटल मालिक का कहना है कि उन्होंने कभी बीफ नहीं बेचा। वहीं, राष्ट्रीय महिला गऊ रक्षक दल की राष्ट्रीय अध्यक्ष कमल दीदी ने कहा कि उन्हें होटल में बीफ पार्टी करने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद करीब 150 कार्यकर्ता वहां इक्ट्ठा हो गए। कमल दीदी का कहना है कि मुझे रविवार शाम कुछ लावारिस गायों के संबंध में एक फोन आया था, जिन्हें गाय पुनर्वास केंद्र भेजने के लिए मैं अपने कुछ कार्यकर्ताओं के साथ वहां पहुंची।

हमने वहां देखा कि होटल के पास कुछ युवक कूड़ा फेंक रहे हैं जो दिखने में बीफ जैसा था। दीदी ने आगे बताया कि स्थानीय लोग भी शिकायत कर रहे थे कि यहां हर हफ्ते बीफ पार्टी होती है। इसलिए हमें लगा कि यह बीफ है और हमने उन्हें पकड़ लिया। होटल के सफाई कर्मचारी 19 साल के कासिम उन लोगों में से एक थे जिन्हें गौ रक्षक दल ने पकड़ा।

कासिम ने बताया कि होटल के पास ही कचरे का केंद्र है और हम चिकन मीट का अवशेष फेंक रहे थे जिस समय कुछ लोग आए और हमपर बीफ फेंकने का आरोप लगाने लगे। पीले कपड़े पहने एक महिला ने मुझे प्रताड़ित किया और हमें होटल ले गए। होटल में मैनेजर और रिसेप्सनिस्ट के तौर पर काम करने वाले वसीम अहमद ने कहा कि करीब तीन दर्जन लोग चार पुलिस वालों के साथ होटल आ गए और नरेंद्र मोदी जिंदाबाद, हयात रब्बानी मुर्दाबाद व भारत माता की जय के नारे लगाने लगे।

पुलिस अहमद और कासिम को पकड़कर ले गए। लेकिन होटल के पास भीड़ बढ़ती देख अहमद को वापस होटल ले जाया गया। अहमद ने कहा कि वहां पुलिस की मौजूदगी में ही कमल दीदी और उनके समर्थकों ने मुझे पीटा।

TOPPOPULARRECENT