Friday , June 22 2018

बीवी और ससुर को गोली मारकर खुद फंदे पर झूला

मुरादनगर, 29 मार्च: दिल्ली कड़कड़डूमा मेट्रो स्टेशन पर बीवी और ससुर पर गोलियां बरसाने वाले शख्स ने खुद भी फंदा लगाकर जान दे दी। बुध की सुबह उसकी लाश मुरादनगर रेलवे स्टेशन के पास पेड़ पर लटकी मिली। उसकी जेब से मिली पर्ची से उसकी शनाख

मुरादनगर, 29 मार्च: दिल्ली कड़कड़डूमा मेट्रो स्टेशन पर बीवी और ससुर पर गोलियां बरसाने वाले शख्स ने खुद भी फंदा लगाकर जान दे दी। बुध की सुबह उसकी लाश मुरादनगर रेलवे स्टेशन के पास पेड़ पर लटकी मिली। उसकी जेब से मिली पर्ची से उसकी शनाख्त हुई।

करीब सात बजे रेलवे स्टेशन सुप्रीटेंडेंट मुन्ना खां ने पेड़ पर लटकती लाश देखकर पुलिस को बुलाया। पुलिस ने लाश नीचे उतारकर तलाशी ली तो जेब से एक कागज मिला। उस पर पवन कुमार निवासी खजूरवाली गली अरविंदनगर घोड़ा न्यू उस्मानपुर दिल्ली लिखा था।

दिल्ली पुलिस से राबिता करने के बाद उसकी शनाख्त पवन (30) के तौर पर हुई। इसी पवन ने 26 मार्च को कड़कड़डूमा मेट्रो स्टेशन पर अपनी बीवी दीप्ति (27) और ससुर भीष्म दास सिंह (57) साकिन चिराग दिल्ली पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई थीं। जख्मी दीप्ति को डॉ. हेडगेवार अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मुर्दा ऐलान किया। जबकि भीष्म दास की हालत नाज़ुक है। गोलीबारी के बाद पवन मौके पर बंदूक और कार छोड़कर भाग गया था।

मुरादनगर पुलिस का मानना है कि पवन दिल्ली में वारदात को अंजाम देने के बाद पुलिस से बचता हुआ ट्रेन से मुरादनगर पहुंचा होगा और यहां पेड़ से लटककर अपनी जान दे दी। एसओ एपी सिंह का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मौत की वजह दम घुटना ही आया है। मामला दिल्ली से जुड़ा है इसके चलते पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिल्ली भेज दी जाएगी।

पवन ने लाल कलर की प्लास्टिक की साढ़े तीन मीटर लंबी रस्सी से फंदा बनाया था। पुलिस ने रस्सी और उसकी जेब से मिले तीन सौ रुपये और एक पेन कब्जे में ले लिया है।

पवन के वालिद कर्ण सिंह ने मौके पर पहुंचकर उसकी शनाख्त की थी। उनके साथ दिल्ली पुलिस भी पहुंची थी। वालिद ने बताया कि पवन काफी वक्त से बेरोजगार था और बीवी दीप्ति को वापस लाना चाहता था लेकिन दीप्ति ने वापस ससुराल आने से मना कर दिया था।

—-बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT