Saturday , January 20 2018

बीवी का कत्ल : बी एस पी रुक्ने असेम्बली से पूछगिछ

बी एस पी रुकन असेम्बली हाजी अलीम से आज पुलिस ने तक़रीबन ढाई घंटे तक पूछगिछ की। उनकी बीवी के क़त्ल की तहक़ीक़ात के सिलसिले में पूछगिछ की गई है। दिल्ली पुलिस के एक सीनीयर ओहदादार ने कहा कि हम ने पूछगिछ के लिए उन्हें समन जारी नहीं किया

बी एस पी रुकन असेम्बली हाजी अलीम से आज पुलिस ने तक़रीबन ढाई घंटे तक पूछगिछ की। उनकी बीवी के क़त्ल की तहक़ीक़ात के सिलसिले में पूछगिछ की गई है। दिल्ली पुलिस के एक सीनीयर ओहदादार ने कहा कि हम ने पूछगिछ के लिए उन्हें समन जारी नहीं किया है। वो ख़ुद तहक़ीक़ात में मदद करने के लिए अपने तौर पर पुलिस स्टेशन आए थे। अब तक हम ने इस केस में उन पर कोई शुबा नहीं किया है।

बी एस पी लीडर हाजी अलीम अपने भाई हाजी सग़ीर और हाजी यूनुस के हमराह वेल्कम पुलिस स्टेशन पहुंचे और तहक़ीक़ाती अमल में शामिल होगए। पुलिस ज़राए के मुताबिक़ अलीम से वेल्कम पुलिस स्टेशन पर तक़रीबन ढाई घंटे तक पूछगिछ की गई और रिहाना साथ उनके हालिया ताल्लुक़ात के बारे में पूछा गया कि आया उन्हें किसी पर शुबा है। 40 साला रिहाना जो अलीम की दूसरी बीवी थी, चहारशंबे की सुबह अपनी नई ज़फ़र आबाद रिहायश गाह में मुर्दा पाई गई थीं।

इस क़तल के वक़्त अलीम अज़म हज के लिए हिन्दुस्तान से बाहर थे। क़ब्लअज़ीं दिन में हाजी अलीम जो बुलंदशहर के रुकन असेम्बली हैं, पुलिस पूछताछ के लिए पुलिस स्टेशन नहीं आसके थे। उन्होंने बताया था कि वो बुलंदशहर में अपनी अहलिया की तजहीज़‍-ओ‍-तत्फ़ीन और फ़ातिहा में मसरूफ़ हैं। इस दौरान पुलिस ओहदेदार ने कहा कि इस ने रिहाना के अरकाने ख़ानदान से बातचीत की।

रिहाना के भाई से भी बात हुई लेकिन इन में से किसी ने भी इस क़त्ल के पीछे किसी पर शुबा ज़ाहिर नहीं किया है। पुलिस ज़राए ने बताया कि वो मतोफ़ेह के अरकाने ख़ानदान के बिशमोल 7 अफ़राद के टेलीफ़ोन कालिस की जांच कर रहे हैं ताकि इस केस में कोई पेशरफ़त हो सके।

TOPPOPULARRECENT