Tuesday , December 12 2017

बी जे पी के मुस्लिम क़ाइदीन के मौक़िफ़ पर कांग्रेस का इज़हार हैरत

नई दिल्ली 18 जुलाई (पी टी आई) दिल्ली बी जे पी के नायाब सदर आमिर रज़ा हुसैन के मोदी के मुस्लमानों को कुत्ते का बच्चा क़रार देने पर मुस्ताफ़ी होने की ख़बर से कांग्रेस को बी जे पी पर तन्क़ीद का एक और मौक़ा हासिल होगया है। कांग्रेस ने कहा कि उसे

नई दिल्ली 18 जुलाई (पी टी आई) दिल्ली बी जे पी के नायाब सदर आमिर रज़ा हुसैन के मोदी के मुस्लमानों को कुत्ते का बच्चा क़रार देने पर मुस्ताफ़ी होने की ख़बर से कांग्रेस को बी जे पी पर तन्क़ीद का एक और मौक़ा हासिल होगया है। कांग्रेस ने कहा कि उसे हैरत है कि बी जे पी में मुस्लिम क़ाइदीन क्या मौक़िफ़ इख़तियार करेंगे।

अगर आमिर रज़ा हुसैन दुरुस्त बात कह सकते और करसकते हैं तो तमाम साबिक़ सोशलिस़्टों को जो बी जे पी में शामिल होचुके हैं, ख़ामोश नहीं रहना चाहीए। कांग्रेस क़ाइद-ओ-मर्कज़ी वज़ीर-ए-इत्तलात-ओ-नशरियात मनीष तीवारी ने आज सुबह टोइटर पर क़ौमी नायाब सदर बी जे पी मुख़तार अब्बास नक़वी और तर्जुमान शाहनवाज़ हुसैन को मुख़ातिब करते हुए ये तबसरा किया।

मोदी के तबसरा का ये अव्वलीन नतीजा है। आमिर रज़ा हुसैन थियटर की एक नामवर शख़्सियत हैं जिन्होंने कल अपना इस्तीफ़ा पेश कर दिया।उन्होंने टेलीविज़न पर मोदी के ख़िलाफ़ तबसरा भी किया था। नागपुर से मौसूला इत्तिला के बमूजब मोहन भागवत ने बी जे पी की इंतेख़ाबी मुहिम के सरबराह नरेंद्र मोदी के इस मंसूबे को कि लोक सभा इंतेख़ाबात में राम मंदिर के मसले को बड़े पैमाने पर मौज़ू बनाया जाएगा, मंज़ूरी दे दी।

दोनों की ढाई घंटे तवील दो बद्दू मुलाक़ात में ये मंज़ूरी दी गई। आर ऐस एस ने इशारा दिया कि वो बी जे पी ज़ेर-ए-क़ियादत एन डी ए बरसर-ए-इक्तदार आने पर मोदी को वज़ीर-ए-आज़म बनाने पर भी ग़ौर करसकती है। उन्होंने मोदी को हिदायत दी कि राम मंदिर मसले पर समझौता किए बगै़र उन्हें तरक़्क़ी के एजंडे पर ज़ोर देना होगा। मोदी के साथ मुलाक़ात में बी जे पी के सीनीयर क़ाइदीन बिशमोल जनरल सेक्रेटरी भी्या जी जोशी को नजर अंदाज़ कर दिया गया।

एजैंसीज़ की इत्तेला के बमूजब चीफ़ मिनिस्टर गुजरात नरेंद्र मोदी ने पार्टी कारकुनों पर ज़ोर दिया कि वो विज़ारत-ए-उज़मा का उम्मीदवार कौन होगा? इस पर तवज्जु दिए बगै़र दुबारा बरसर-ए-इक्तदार आने पर तवज्जु मर्कूज़ करें। उन्होंने कहा कि मौजूदा मरहले पर पार्टी की क़ियादत कौन करेगा? ये इतना अहम नहीं है जितना कि बी जे पी का दुबारा बरसर-ए-इक्तदार आना अहम है।

वो पूरी में ओडीसा बी जे पी के क़ाइदीन और कारकुनों के इजतेमा से ख़िताब कररहे थे। उन्होंने इस तजवीज़ पर कि उन्हें ही पार्टी का विज़ारत-ए-उज़मा का उम्मीदवार होना चाहीए, रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कहा कि कांग्रेस को शिकस्त देने के लिए काम कीजिए और ऐसी बातों (विज़ारत-ए-उज़मा के उम्मीदवार) में मत उलझए।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि रियास्ती क़ियादत को कांग्रेस और ओडीसा में बरसर-ए-इक्तदार बी जे डी का एक फ़र्द-ए-जुर्म तैय्यार करना चाहीए। जिसे देही अवाम तक पहुंचाया जाना चाहीए। उन्होंने कहा कि हर असेम्बली हलक़े में कम अज़ कम 10 हज़ार मोबाईल फोन्स पर बी जे पी के नज़रियात और कांग्रेस की नाएहली की तशहीर की जानी चाहीए।

मोदी ने पार्टी कारकुनों से कहा कि वो देहात में मुक़ीम अवाम के साथ रवाबित क़ायम करें और समाजी ज़राए इबलाग़ जैसे फेसबुक और टोइटर इस्तेमाल करें। उन्होंने कहा कि हम टेक्नोलोजी के दौर से गुज़र रहे हैं, देही अवाम भी मोबाईल फोन्स और मुवासलात के दीगर ज़राए से वाक़िफ़ हैं।

TOPPOPULARRECENT