Wednesday , December 13 2017

बी जे पी पर तहफ़्फुज़ात दुश्मनी का इल्ज़ाम झूट

छप्परा / नालंदा / पटना : वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने अपने हरीफ़ों नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव को उनके आबाई मुक़ामात पर सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए उन्हें 18 वीं सदी की ज़हनियत के हामिल ऐसे क़ाइदीन क़रार दिया जो जबर-ओ-इस्तिबदाद के एजंडे पर अमल पैरा हैं।

उन्होंने तांत्रिक तनाज़े पर चीफ़ मिनिस्टर नीतीश कुमार की मज़म्मत की और आर जे डी सरबराह लालू प्रसाद यादव पर राष्ट्रीय जादू टोना पार्टी चलाने का इल्ज़ाम आइद किया। मोदी ने कई मुक़ामात पर इंतेख़ाबी जलसों से ख़िताब करते हुए जे डी (यू) , आर जे डी और कांग्रेस के अज़ीम इत्तेहाद के मुतबादिल के तौर पर-बिहार की तरक़्क़ी के लिए बी जे पी का छः नकाती तरक़्क़ीयाती प्रोग्राम पेश किया।

बहार असेम्बली इंतेख़ाबात के माबाक़ी तीन मरहलों के लिए /28 अक्टूबर , एक‌ / नवंबर और /5 नवंबर को वोट डाले जाऐंगे। बी जे पी को तहफ़्फुज़ात दुश्मन पार्टी के तौर पर ज़ाहिर करने अपोज़ीशन के इल्ज़ामात को झूट का पलंदा क़रार देते हुए मुस्तरद कर दिया और वादा किया कि समाज के पिछड़े हुए तबक़ात की तरक़्क़ी के लिए दलित रहनुमा बी आर अंबेडकर की कोशिशों से दस्तूर में फ़राहम करदा क़वानीन को कोई छू भी नहीं सकता।

नीतीश कुमार के ताक़तवर गढ नालंदा में अज़ीम सैकूलर इत्तेहाद को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए मोदी ने कहा कि ताहाल महागढ बंधन में सिर्फ तीन खिलारियों का इलम था । बढ़ा भाई लालू , छोटा भाई नीतीश और मैडम सोनिया गांधी । लेकिन पहली मर्तबा मुझे एक चौथे खिलाड़ी एक तांत्रिक का पता चला है । चुनांचे अज़ीम मौकापरस्त इत्तेहाद में अब चार खिलाड़ी हैं।

TOPPOPULARRECENT