Sunday , December 17 2017

बी जे पी पर पारलीमानी सैशन को ज़ाए और अवाम को गुमराह करने का इल्ज़ाम

धांदलियों का यक़ीन था तो बेहेस से राह फ़रार क्यों इख़तियार की गई ,सलमान ख़ुरशीद की प्रैस कान्फ़्रैंस मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून मिस्टर सलमान ख़ुरशीद ने कहा कि कोयला ब्लॉक्स अलाटमैंट में सरकारी खज़ाने को नुक़्सान पहूंचने का सी ए जी ने अपनी रिपोर्ट में कोई तज़किरा नहीं किया है । सिर्फ सुस्ती शौहरत हासिल करने केलिए बी जे पी और एन डी ए की हलीफ़ जमातों पर पार्लीमैंट की दोनों ऐवानों को मफ़लूज और क़ौम को गुमराह करने की कोशिश करने का इल्ज़ाम आइद करते हुए ये शेअर कहा ।

हर एक बात पे कहते हो तुम कि तो किया है
तुम ही कहो कि ये अंदाज़ गुफ़्तगु किया है

आज गांधी भवन में प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए सलमान ख़ुरशीद ने ये बात बताई । इस मौखे पर मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत-ओ-इंचार्ज ए पी कांग्रेस उमूर मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद सदर नशीन प्रदेश मीडीया कमेटी मिस्टर मुहम्मद अली शब्बीर सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर बी सत्य ना रावना और रियास्ती वज़ीर लेबर मिस्टर डी नागेंद्र भी मौजूद थे ।

मिस्टर सलमान ख़ुरशीद ने कहा कि कोयला बलॉक अलाटमैंट मुआमले में अवाम को हक़ायक़ मालूम होने के ख़ौफ़ से बी जे पी और एन डी ए के दीगर हलीफ़ जमातों ने पार्लीमैंट दोनों ऐवानों की कार्रवाई को चलने नहीं दिया । इस मसले पर मुबाहिस केलिए पार्लीमैंट ही मौज़ूं प्लेटफार्म था अगर कोयला अलाटमैंट में धांदलीयाँ होने का भी बी जे पी को यक़ीन था तो वो ऐवानों से राह फ़रार इख़तियार करने के बजाय उस को पार्लीमैंट में मौज़ू बेहस बनाने केलिए ऐवानों की कार्रवाई को बुला रुकावट चलाने में मदद करती लेकिन बी जे पी सिर्फ़ सुस्ती शौहरत हासिल करने और अवाम को गुमराह करने की कोशिश में ऐवानों का क़ीमती वक़्फ़ ज़ाए करदिया है ।

कम्पयूटर ऐंड एडीटर जनरल (काग) ने अपनी रिपोर्ट में कोयला ब्लॉक्स के अलाटमैंट में हुकूमत या सरकारी खज़ाने को नुक़्सान पहूंचने का कोई इन्किशाफ़ नहीं किया है । हुकूमत ने कोयला ब्लॉक्स का हराज नहीं किया है सिर्फ बर्क़ी पैदावार केलिए पावर प्लांटस को कोयला की निकासी की अजामत दी है इस पर करोड़ों रुपय का जो भी हिसाब किताब बताया जा रहा है वो बेबुनियाद है क्योंकि इस पर कोई भी अंदेशा ज़ाहिर नहीं करसकते ।

सलमान ख़ुरशीद ने बी जे पी के ज़ेर क़ियादत चीफ़ मिनिस्टर के बिशमोल नवीन पटनाइक चीफ़ मिनिस्टर उड़ीसा की जानिब से कोयला ब्लॉक्स को हराज ना करने की मर्कज़ी हुकूमत को की गई सिफ़ारिश का हवाला देते हुए कहा कि मर्कज़ी हुकूमत ने मनमानी कोई फ़ैसला नही किया बल्कि रियास्तों के चीफ़ मिनिस्टर्स के सिफ़ारिशात का भी एहतिराम किया है । लेकिन बी जे पी जो उस वक़्त अवामी ताईद से महरूम है और अंदरूनी झगड़ों का शिकार है इस से अवाम की तवज्जु को हटाने केलिए कोयला ब्लॉक्स के मसले पर एहतिजाज करते हुए मुल्क और क़ौम को गुमराह करने की कोशिश की है ।

उन्हों ने स्क्रीनिंग कमेटी के क़वाइद में गलतीयां होने की तरदीद भी की । मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़ानून ने कहा कि कोयला अस्क़ाम मैं काग रिपोर्ट ही क़तई नहीं है । बल्कि पब्लिक अकाउंट कमेटी जायज़ा लेकर पार्लीमैंट को सिफ़ारिश करती है । वीजलनस कमीशन ने कोयला ब्लॉक्स अलाटमैंट केलिए सी बी आई तहक़ीक़ात का ऐलान किया है और सी बी आई ने एफ़ आई आर भी दर्ज किया है । मर्कज़ी हुकूमत ने कोई ग़लती नहीं की है और ना ही हुकूमत को कोई नुक़्सान पहूँचा है फिर भी अगर कुछ गलतीयां सरज़द हुई हैं तो इस का जायज़ा लेने और ग़लतीयों को सुधारने केलिए तैय्यार है ।

बी जे पी और दूसरी जमातों को औपोज़ीशन का तामीरी रोल अदा करते हुए हुकूमत को तजावीज़ पेश करने की ज़रूरत है । उन्हों ने कहा कि कोल रैगूलेटरी कमीशन के क़ियाम पर मर्कज़ी हुकूमत संजीदगी से ग़ौर कर रही है । उन्हों ने इस मसले पर मर्कज़ी हुकूमत की जानिब से औपोज़ीशन को एतिमाद में ना लेने के सवाल को मुस्तर्द करते हुए कहा कि हुकूमत ने हर मुम्किन कोशिश की है लेकिन बी जे पी ने तआवुन नहीं किया जिस की वजह से पार्लीमैंट की कार्रवाई को ग़ैर मुअय्यना मुद्दत केलिए मुल्तवी करदिया गया है ।

चंदाल को कोला बलॉक अलॉट करने के ख़िलाफ़ बी जे पी के एहतिजाज पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि चीफ़ मिनिस्टर उड़ीसा नवीन पटनाइक की सिफ़ारिश पर चंदल को अलॉट किया गया है । मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि कोयला बलॉक के मसले पर बी जे पी तमाशा कर रही है । बी जे पी के क़ाइदीन मैं झूट बिलोने का मुक़ाबला चल रहा है और एक दूसरे पर सबक़त लेजाने केलिए बी जे पी क़ाइदीन झूट पर झूट बोल रहे हैं । इस मसले पर मुबाहिस केलिए पार्लीमैंट से बेहतर दूसरा कोई प्लेटफार्म नहीं होसकता लेकिन बी जे पी मुबाहिस केलिए तैय्यार ही नहीं थी ।

TOPPOPULARRECENT