Monday , December 18 2017

बी जे पी बे फ़िक्र रहे, में कोई सौदेबाज़ी नहीं करूंगा : विजय बहु गुना

उत्तराखंड के वज़ीर ए आला विजय बहु गुना ने आज अपोज़ीशन को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि बी जे पी को इस बारे में क़तई फ़िक्र नहीं करनी चाहीए कि वो (बहू गुना) अपनी जानिब से कोई धोका दही वाला क़दम उठाएंगे बल्कि बी जे पी अगर पहले ख़ुद अपनी

उत्तराखंड के वज़ीर ए आला विजय बहु गुना ने आज अपोज़ीशन को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि बी जे पी को इस बारे में क़तई फ़िक्र नहीं करनी चाहीए कि वो (बहू गुना) अपनी जानिब से कोई धोका दही वाला क़दम उठाएंगे बल्कि बी जे पी अगर पहले ख़ुद अपनी दरूस्तगी कर ले तो बेहतर होगा ।

पी टी आई को एक इंटरव्यू देते हुए उन्होंने कहा कि बी जे पी अपने आप को बिलकुल महफ़ूज़ तसव्वुर करे । में उन्हें कोई धोका देने वाला यह उनका शिकार करने वाला नहीं हूँ। याद रहे कि इंटरव्यू के दौरान उनसे पूछा गया था कि क्या असेंबली में दाख़िला के लिए मख़लवा नशिस्त के हुसूल के लिए वो बी जे पी एम एल एज़ से राबिता में हैं जिसका उन्होंने मुंदरजा बाला जवाब दिया ।

बहु गुना ने एक बार फिर वाज़िह कर दिया कि वो किसी से राबिता में नहीं हैं और ना ही बी जे पी और ना ही कांग्रेस को ये इख्तेयार दिया है कि वो उन की (बहू गुना) जानिब से किसी सयासी पार्टी यह एमएल ए से रब्त पैदा करें। ऐसा पूछना या ऐसा कहना अंधेरे में तीर चलाने के मुतरादिफ़ है ।

अलबत्ता उन्होंने ये कहने से भी गुरेज़ नहीं किया कि रियासत में उनके कई दोस्त और ख़ैरख़्वाह मौजूद हैं। किसी भी सयासी जमात में उन के दोस्तों और ख़ैर ख्वाहों की कोई कमी नहीं है । यहां इस बात का तज़किरा दिलचस्पी से ख़ाली ना होगा कि बहु गुना के बयान से सिर्फ कुछ रोज़ क़ब्ल ही बी जे पी अपने तमाम एम एल एज़ को लेकर मध्य प्रदेश के शहर उज्जैन रवाना हो गई थी ताकि कांग्रेस की जानिब से एम एल एज़ के साथ हारिस ट्रेडिंग ना की जा सके ।

सयासी हलक़ों में आजकल ये फैशन बन गया है कि हारिस ट्रेडिंग से बचने के लिए तमाम के तमाम अल अल एज़ को किसी फाईव स्टार होटल , किसी रेस्टूरेंट या फिर किसी नामालूम मुक़ाम पर पहुंचा दिया जाता है जहां सयासी जमातों और मीडिया की रसाई नहीं हो सकती।

TOPPOPULARRECENT