Wednesday , December 13 2017

बी जे पी लीडरों के क़तल की तहक़ीक़ात एन आई ए के हवाले

गांधी नगर: हुकूमत गुजरात ने ये फ़ैसला किया है कि भड़ौच में 2बी जे पी लीडरों के क़तल की तहक़ीक़ात नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी के हवाले कर दी जाये। बावर किया जाता है कि क़तल केस के असल साज़िशी अनासिर हिन्दुस्तान के बाहर हैं और दहशतगरदों के साथ रब्त-ज़ब्त रखते हैं।

डायरेक्टर जनरल पुलिस मिस्टर पी सी ठाकुर ने आज बताया कि एन आई ए तहक़ीक़ात की तजवीज़ पर चीफ़ मिनिस्टर आनंद बेन पटेल ने दस्तख़त कर दिए हैं।उन्होंने बताया कि मर्कज़ी विज़ारत-ए-दाख़िला को रवाना तजवीज़ में एन आई ए तहक़ीक़ात के लिए मर्कज़ से दरख़ास्त की गई है।

एन आई ए ऐक्ट के मुताबिक़ मुक़ामी पुलिस की तहक़ीक़ात में किसी भी केस में पता चलता है कि मुजरिमीन और साज़िशी अनासिर का ताल्लुक़ बैन-उल-अक़वामी गिरोहों से है और उन्हें हिन्दुस्तान लाने के लिए केस की तहक़ीक़ात नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ( एन आई ए ) के हवाले कर दी जाती है।

वाज़िह रहे कि बी जे पी लीडर-ओ-साबिक़ पार्टी सदर ज़िला भड़ौच और सीनियर आर एस एस रुकन सुरेश बंगाली और जनरल सेक्रेटरी भारतीय जनता यूह मोरचा ज़िला भड़ौच पर गणेश मेसतरी को दो नामालूम हमलावरों ने 2नवंबर को भड़ौच में गोलीमार कर हलाक कर दिया था।

गुजरात के इन्सिदाद-ए-दहशतगर्दी दस्ता ( ए टी एस ) ने गुजरात, राजस्थान और उत्तराखंड के मुख़्तलिफ़ मक़ात से 9 अफ़राद की गिरफ़्तारी के बाद ये दावा किया था कि बी जे पी लीडरों के क़तल के लिए 1993के मुंबई सिलसिला-वार बम धमाकों के मफ़रूर मुल्ज़िम जावेद पटेल उर्फ़ जावेद चिकना ने क़ातिलों को सुपारी दी थी क्योंकि जावेद चिकना993 के मुंबई फ़सादात‌ और 2002 के गुजरात फ़सादात‌ का इंतेक़ाम लेना चाहता था।

पुलिस ने बताया कि क़तल का कौंट्रेएक्ट एक गिरफ़्तार मुल्ज़िम इमरान क़ादिर को दिया गया था जिसने क़तल का मन्सूबा रूबा अमल लाने के लिए 8अफ़राद की इआनत हासिल की थी और इस मक़सद के लिए चिकना जावेद ने 50लाख रुपये अदा किए थे। पुलिस सुप्रिटेंडेंट‌ ए टी ऐस मिस्टर हिमांशू शुक्ला ने बताया कि तहक़ीक़ात में पता चला है कि जावेद के अलावा उस के भाई आबिद पटेल ने भी सरगर्म रोल अदा किया है जिसने चंद साल क़बल बर्तानवी शहरीयत हासिल करली है।

जावेद और आबिद का आबाई मुक़ाम ज़िला भड़ौच में काएथरया गाँव‌ है। जावेद 1993के मुंबई धमाकों के बाद मुल्क से फ़रार हो गया जबकि आबिद 2013 तक हिन्दुस्तान में क़ियाम पज़ीर था। बादअज़ां बर्तानिया मुंतक़िल हो कर वहां का शहरी बन गया है और हाल ही में भड़ौच का दौरा करके क़तल की साज़िश तैयार करके वापिस चला गया।

TOPPOPULARRECENT