Wednesday , December 13 2017

बी जे पी से अलाहिदा होने का फ़ैस्ला अभी रद‌

* यदि यूरप्पा का एलान कर्नाटक राजनिती में खडी हुइ मूश्किलों से कांग्रेस ने अपना पल्लु बचाया बैंगलुर । कर्नाटक में बी जे पी हुकूमत के लिए मुशकीलें खडी करने के बाद पार्टी के सीनीयर लीडर बी एस यदि यूरप्पा ने आज कहा

* यदि यूरप्पा का एलान कर्नाटक राजनिती में खडी हुइ मूश्किलों से कांग्रेस ने अपना पल्लु बचाया
बैंगलुर । कर्नाटक में बी जे पी हुकूमत के लिए मुशकीलें खडी करने के बाद पार्टी के सीनीयर लीडर बी एस यदि यूरप्पा ने आज कहा
कि उन्हों ने अलाहिदा होने का फ़ैसला अभि केन्सल कर‌ दिया है ।

उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर सदानन्द गोड़ा के ख़िलाफ़ अपनी मुहिम जारी रखने का एलान किया है । यदि यूरप्पा ने दावा किया है कि कर्नाटक असेंबली में बी जे पी के 120 सदस्यों में से 70 से जयादा की उन्हें ताईद हासिल है ।

उन्हों ने कहा कि सीनीयर पार्टी लीडर अरूण जेटली की अपील और पार्टी सदस्यों ने असेंबली के दबाउ की वजह से बी जे पी से अलाहिदा होने के फ़ैसले को रोक दिया है । उन्हों ने सदानन्दगोड़ा के ख़िलाफ़ अपनी मुहिम जारी रखते हुए कहा कि हर दिन वो एसे ब्यानात दे रहे हैं जिन से उन की 40 साला जनता कि भलाइ के लीए गुजारी गइ ज़िंदगी की तौहीन हो रही है ।

इस के इलावा सदानन्द गोड़ा ने बाज़ एसे लोगों को हटा दिया जिन का उन्हों ने अपाइंट‌ किया था । यदि यूरप्पा ने कहा कि वो चीफ़ मिनिस्टर या पार्टी रियास्ती सदर का ओहदा हासिल करने के चाहक‌ नहीं हैं और उन्हों ने बी जे पी मर्कज़ी क़ियादत के सामने कोई
शर्तें नहीं रखी है। इस दरमियान‌ यदि यूरप्पा के हामी असेंबली सदस्य‌ और मंत्रीयों कि एक मिटींग‌ नाशते पर यदि यूरप्पा की रेस कोर्स क़ियामगाह पर हुइ और भवीष्य‌ के काम के तरीकों पर ग़ौर किया गया।

यदि यूरप्पा के क़रीबी ज़राए का दावा है कि वो बी जे पी से अलग‌ होने पर ग़ौर कररहे हैं। ये एक एसी उथ्थल पुथ्थल‌ है जिस से 4 साल पुरानि बी जे पी हुकूमत को ख़तरा पैदा हो जाएगा। जुनूबी हिंद में बी जे पी की ये पहली हुकूमत है। यदि यूरप्पा के वफ़ादार 8 मंत्री पहले ही अपने रीझाइन‌ के खत‌ उन्हें दें चुके हैं।

एक और उथल पथल‌ में बी जे पी की मर्कज़ी क़ियादत ने साफ शबदों में यदि यूरप्पा के सदानंद गौड़ा को चीफ़ मिनिस्टर के ओहदा से अलाहिदा करने के मुतालिबे को रद‌ करदिया है।

इस दौरान कांग्रेस ने आज वाज़िह इशारा दिया है कि यदि यूरप्पा की जानिब से सोनीया गांधी की तारीफ़ के बावजूद वो उन से संपर्क‌ नहीं करेगी । पार्टी अनुवादक‌ मनीष तीवारी ने कहा कि कर्नाटक में जो कुछ होरहा है वो बी जे पी का अंदरूनि मुआमला है । कांग्रेस पार्टी या सदर को किसी कि सनद की ज़रूरत नहीं है ।

TOPPOPULARRECENT