Monday , December 18 2017

बी जे पी फ़िर्कावाराना कशीदगी का फ़ायदा उठाने कोशां:मायावती

आर एस एस गैर दस्तूरी तंज़ीम पाकिस्तान से बात चीत का इलतिवा सियासी फैसला सिफ़ारती नहीं

आर एस एस गैर दस्तूरी तंज़ीम पाकिस्तान से बात चीत का इलतिवा सियासी फैसला सिफ़ारती नहीं

बहुजन समाज पार्टी की सरबराह मायावती ने आज मर्कज़ की बरसर‍-ए‍-इक़्तेदार‌ एन डी ए हुकूमत पर शदीद तन्क़ीद की और कहा कि हुकूमत की सरबराह जमात बी जे पी उत्तरप्रदेश में पेश आए फ़िर्कावाराना कशीदगी के वाक़ियात का सियासी फ़ायदा हासिल करने की कोशिश कर रही है जबकि रियासत में ज़िमनी इंतेख़ाबात होने वाले हैं। मायावती ने एक प्रेस कान्फ्रेंस से ख़िताब करते हुए कहा कि हम ने रियासत में सदर राज नाफ़िज़ करने का मुतालिबा किया है लेकिन बी जे पी की जानिब से रियासत में पेश आए फ़िर्कावाराना तशद्दुद और कशीदगी के वाक़ियात का सियासी फ़ायदा हासिल करने की कोशिश की जा रही है क्योंकी यहां ज़िमनी इंतेख़ाबात करीब आते जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मर्कज़ में नई हुकूमत क़ायम हुए तीन माह का वक़्त गुज़र चुका है और इस दौरान हुकूमत की कारकर्दगी मायूस कुन है । उन्होंने मज़ीद इल्ज़ाम आइद किया कि राष्ट्रीय सोय‌म सेवक सिंह ( आर एस एस ) एक गैर दस्तूरी तंज़ीम के तौर पर उभर रही है और हाल ही में इस के सरबराह मोहन भागवत की जानिब से हिंदूतवा पर जो रिमार्कस किए गए हैं उन से मुल्क में फ़िर्कावाराना कशीदगी पैदा होसकती है। मोहन भागवत ने कहा था कि हिन्दुस्तान में रहने वाले तमाम शहरी हिंदू हैं । हिंद पाक मोतमदीन‌ ख़ारिजा सतह की बात चीत को मंसूख़ करदेने के फैसले का हवाला देते हुए मायावती ने कहा कि ये फैसला सिफ़ारती नवीत का नहीं बल्कि सियासी नवीत का और मबनी बर अग़राज़ दिखाई देता है। उन्होंने राज्य सभा के रुकन अमर सिंह को भी तन्क़ीद का निशाना बनाया और कहा कि वो जिस पार्टी में भी गए हैं उस को ज़वाल आगया है।

TOPPOPULARRECENT