बुलंदशहर: इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी बोलीं, हत्या के सुबूत मिटाए जा रहे हैं

बुलंदशहर: इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी बोलीं, हत्या के सुबूत मिटाए जा रहे हैं

बुलंदशहर में तीन दिसंबर को हुई हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई. इस मामले में पुलिस और प्रशासन की अब तक की कार्रवाई से सुबोध कुमार सिंह का परिवार संतुष्ट नहीं है.

उनकी पत्नी रजनी ने कहा है कि उनके पति की हत्या हुई लेकिन सरकार अब कह रही है कि यह दुर्घटना थी. अगर ऐसा होता रहा तो कोई मां अपने बेटे को पुलिस मेंताया की  नहीं भेजेगी.

NDTV से इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की पत्नी रजनी और बेटे अभिषेक सिंह ने सरकार के रवैये पर गहरा क्षोभ जताया.

रजनी सिंह ने कहा कि दुख होता कि देश की रक्षा करने वालों का किसी को खयाल नहीं है. हत्या के सुबूत मिटाए जा रहे हैं. सरकार कहती है कि यह दुर्घटना थी.

मुझे बहुत दुख होता है यह सुनकर. मेरे पति की हत्या की गई. अगर ऐसी दुर्घटनाएं होती रहीं तो माएं अपने बेटों को पुलिस में नहीं भेजेंगी.

उन्होंने कहा कि योगी जी ने आश्वासन दिया था. मैं योगी जी से पूछती हूं कि वह हत्यारा कैसे खुला घूम रहा है. योगेश राज पर राजनीतिक लोगों का हाथ है.

सीबीआई से लेकर सब फोर्स हैं तो भी नहीं पकड़ पाए. योगेश राज ऊपर से अपना वीडियो वायरल कर रहा है. उन्होंने कहा कि मेरे पति को न्याय नहीं मिल रहा है. पुलिस कहां है? आज मेरे पति के साथ जो हुआ वह आपके साथ भी होगा.

सुबोध कुमार के बेटे अभिषेक ने कहा कि वीएचपी और बजरंग दल के लोग योगेश राज को बचाने की कोशिश कर रहे हैं. वह नहीं पकड़ा गया तो यह इंसानियत की हार होगी.

देश की रक्षा करने वालों की रक्षा नहीं होती. आरोपी इनकी नाक के नीचे सरेंडर कर रहे हैं. अभिषेक ने कहा कि मेरा भाई IPS बनेगा और मैं वकील बनूंगा. मैं अपने पिता की मौत की फाइल खुलवाकर जांच करूंगा. ये लोग मुझे मजबूर न करें. मेरा देश खोखला न हो जाए, मुझे डर है.

बुलंदशहर की घटना पर पूर्व में अभिषेक ने कहा था कि इस मॉब लिंचिंग कल्चर से कुछ हासिल नहीं होने वाला है. यदि हम हिंदू-मुस्लिम के नाम पर आपस में लड़ते रहे तो पाकिस्तान या चीन को कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

Top Stories