बुलंदशहर- मुख्य आरोपी का अभी तक सुराग नहीं, इंस्पेक्टर और सुमित को एक ही रिवॉल्वर से मारी गई गोली

बुलंदशहर- मुख्य आरोपी का अभी तक सुराग नहीं, इंस्पेक्टर और सुमित को एक ही रिवॉल्वर से मारी गई गोली

बुलंदशहर में हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह समेत दो लोगों की मौत के 2 दिन बाद भी मुख्य आरोपी योगेश राज फरार है. हिंसा के मामले में अब तक चार लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. इस बीच एबीपी न्यूज को मिली है योगेश राज का एक पुराना वीडियो, इसमें योगेश किसी कार्यक्रम में डांस के दौरान पिस्तौल लहराता दिख आ रहा है. ये वीडियो फरवरी का बताया जा रहा है और आरोप है कि योगेश राज इलाके में इसी तरह से दहशत फैलाता रहता है.

 

योगेश राज बजरंग दल का जिला संयोजक है और गोकशी को लेकर योगेश ने ही FIR दर्ज कराकर तुरंत एक्शन की मांग की थी, जिसके बाद भीड़ ने तांडव मचा दिया था. आरोप है कि हिंसा करने वाली भीड़ की अगुवाई योगेश राज ने ही की थी. पुलिस ने योगेश के खिलाफ FIR तो दर्ज कर ली है लेकिन उसके संगठन का नाम लेने से बच रही है.

 

इंस्पेक्टर सुबोध सिंह और सुमित को एक ही रिवॉल्वर से मारी गई गोली
इंस्पेक्टर सुबोध और छात्र सुमित पर गोली किसने चलाई ये राज अब तक नहीं खुला है. सूत्रों के मुताबिक पोस्टमार्टम में सामने आया है कि सुबोध और सुमित को एक ही रिवॉल्वर से 32 बोर की गोली लगी थी. माना जा रहा है कि दोनों को एक ही रिवॉल्वर से गोली मारी गई.

 

सुमित के शरीर से बरामद गोली को पुलिस फॉरेंसिक जांच के लिए भेजेगी. पुलिस उस पिस्टल को खोजने में लगी है, जिससे दोनों को गोली लगी. चर्चा ये भी है कि इंस्पेक्टर की लूटी गई लाईसेंसी पिस्टल भी 32 बोर की थी. फिलहाल पुलिस कुछ भी कहने से बच रही है और जांच पूरा होने का इंतजार कर रही है.

 

गोकशी की एफआईआर में मासूमों के नाम
बजरंग दल के जिला संयोजंक और बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज ने गोकशी के आरोप में जिन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई ती उनमें नाबालिग भी शामिल हैं. योगेश राज ने हिंसा से पहले ये एफआईआर दर्ज कराई थी जिसका नंबर 582 है और इसी में आरोपी नंबर 4 बारह साल और आरोपी नंबर 5 11 साल का बच्चा है.

 

FIR दर्ज होने के बाद पुलिस ने गोकशी के सातों आरोपियों की तलाश में जुटी है. कल एडीजी आनंद कुमार ने भी कहा था कि गोकशी के आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस दबिश दे रही है. फिलहाल पुलिस ने इन मासूमों से भी पूछताछ की और इनको 3 घंटे तक पुलिस ने थाने में बैठा कर रखा. मासूमों के पिता साजिश का आरोप लगा रहे हैं.

Top Stories