बुलंदशहर हिंसा: क्या मुख्य आरोपी योगेश राज को सजा दिला पायेगी पुलिस?

बुलंदशहर हिंसा: क्या मुख्य आरोपी योगेश राज को सजा दिला पायेगी पुलिस?

स्याना कोतवाली एरिया के चिंगरावठी चौकी के पास कथित गौकशी को लेकर हुई हिंसा और इंस्पेक्टर की हत्या के मुख्य आरोपी योगेश राज की FIR को लेकर बवाल मच गया है। गौकशी के मामले में 7 आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

इंस्पेक्टर की हत्या से पहले ने यह एफआईआर दर्ज कराई थी। परिजनोंं का आरोप है कि पुलिस ने एफआईआर में उनके नाबालिग बच्चों के नाम दर्ज कर लिए।

घटना के बाद में पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने इस मामले में चुप्पी साध ली है। अभी अधिकारी इस मामले में कुछ कहने से बच रहे है।

योगेश राज बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी है। हिंसा भड़काने और इंस्पेक्टर की हत्या में पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 307, 302, 333, 353, 427, 436, 394 के तहत मामला दर्ज किया है।

कथित गोकशी की शिकायत पर सैंकड़ों लोग रोड पर आ गए। योगेश राज ने इनका नेतृत्‍व किया और स्‍याना कोतवाली के प्रभारी सुबोध कुमार सिंह ने उसे समझाने की कोशिश की।

बाद में किसी ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्‍या कर दी। यह एक निजी कंपनी में जॉब करता था और 2016 में बजरंग दल का जिला संयोजक बना था।

Top Stories