बुलंदशहर हिंसा: जांच में खुलासा, फौजी ने मारी इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली?

बुलंदशहर हिंसा: जांच में खुलासा, फौजी ने मारी इंस्पेक्टर सुबोध कुमार को गोली?

बुलंदशहर हिंसा की जांच कर रही एसआईटी और एसटीएफ की टीम को शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को गोली मारने वाले आरोपियों के बारे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार शहीद सुबोध कुमार सिंह को गोली मारने वाला फौजी है।

हिंसा के समय मौके पर मौजूद था। फौजी छूट्टी लेकर गांव आया हुआ था, लेकिन बवाल के बाद वह जम्मू भाग गया। इस मामले में अब पुलिस की जांच में एक और रिटायर्ड फौजी का नाम सामने आया है। बतया गया है कि जम्मू में तैनात फौजी ने ही पिस्टल से इंस्पेक्टर को गोली मारी गई है।

बता दें कि स्याना कोतवाली एरिया के चिंगरावठी चौकी के पास कथित गोकशी को लेकर 3 दिसबंर को हिंसा भड़क गई थी। इस दौरान शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और सुमित नाम के शख्स की जान चली गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दोनों की मौत गोली लगने से हुई थी।

पुलिस ने इस मामले में 27 नामजद और 50 से 60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पूरी घटना का मुख्य आरोपी पुलिस ने योगेश राज को बनाया है। साथ ही फौजी का नाम भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

दरअसल में, हिंसा के मामले के 200 से अधिक वीडियो सामने आए है। इनमें से ज्यादातर वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुए। साथ ही पुलिस ने भी करीब 23 वीडियो हिंसा के बनाए थे। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इन्हीं मेंं से पुलिस के हाथ लगे एक वीडियो में फौजी गोली चलाता हुआ दिखाई दे रहा है।

वीडियो सामने आने पर पुलिस के सीनियर अफसरों ने फौजी की यूनिट में सीनियर अधिकारियों से बातचीत की। बातचीत के दौरान अफसरों ने फौजी को सौंपने का आश्वासन दिया है। यह भीड़ में गोली चलाता हुआ दिखाई दे रहा है।

पुलिस का दावा है कि फौजी ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को गोली मारी है। वीडियो में पहचान के बाद में पुलिस ने उसके घर में दबिश भी दी थी, लेकिन वह घर नहीं मिला। वहीं एक अन्य फौजी भी घटना में शामिल पाया गया है।

पुलिस और एसआईटी की टीम पूरे मामले की जांच में जुटी है। बुलंदशहर के एसएसपी केबी सिंह के पीआरओ अजय दीप ने बताया कि हिंसा के मामले में 2 फौजी के नाम प्रकाश में आए है। एक रिटायर्ड और दूसरा जम्मू मेंं तैनात है। जम्मू में तैनात फौजी की रिपोर्ट अधिकारियों केा भेज दी गई है।

साभार- ‘पत्रिका’

Top Stories