बुलंदशहर हिंसा- ड्राइवर ने बताई आपबीती, कैसे घेर कर इंस्पेक्टर का किया क़त्ल

बुलंदशहर हिंसा-  ड्राइवर ने बताई आपबीती, कैसे घेर कर इंस्पेक्टर का किया क़त्ल

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में सोमवार को गोकशी के बाद मचे बवाल में गुस्साई भीड़ ने स्याना थाने के इंस्पेक्टर की हत्या (Mob Lynching) कर दी। इस बवाल में एक अन्य युवक की भी मौत हो गई। गुस्साई भीड़ ने पुलिस पर पथराव करते हुए पुलिस के कई वाहन फूंक दिए और चिंगरावठी पुलिस चौकी में आग भी लगा दी।

मौके वारदात पर मौजूद ड्राइवर ने आपबीती बताई  हैं ।  ड्राईवर ने बताया कि कैसे पहले हमला किया गया। ड्राइवर ने बताया कि वो पुलिस अधिकारी को बचाने के लिए उन्हें उठकर जीप में लाद लिया, लेकिन पेड़ों की आड़ में छिपे दंगाइयों ने दोबारा हमला बोल दिया।

ड्राइवर के अनुसार गोलियां भी चल रही थी। ड्राइवर ने बताया कि खुद की जान बचाने के लिए वो गन्ने की खेतों में भाग गया। उस दौरान पुलिस गाड़ी पर दोबारा हमला कर पुलिस अधिकारी को दंगाइयों ने मार डाला।

बता दें की इस घटना के बाद बुलंदशहर से लेकर गढ़मुक्तेश्वर तक कर्फ्यू जैसे हालात हो गए हैं। पुलिस प्रशासन ने एतिहातत के तौर पर स्टेट हाईवे को खाली करा लिया। स्याना कोतवाली के गांव महाव की ओर जाने वाली गाड़ियों को रोक दिया गया।

इज्तमा से लौट रहे वाहन बुलंदशहर और औरंगाबाद से डायवर्ट कराए गए। पुलिस ने घटनास्थल की ओर जा रही गाड़ियों को भी रोक लिया। जगह-जगह फोर्स तैनात कर दी गई। इस घटना के बाद से चार घंटे तक सहमी रही डिग्री कॉलेज की सैंकड़ो छात्राएं। चिंगरावठी पुलिस चौकी के पास में ही कॉलेज में छात्राओं को रोक दिया गया। बवाल शांत होने के बाद पुलिस सुरक्षा में छात्राओं को पुलिस की गाड़ियों से ले जाया गया।

Top Stories