Sunday , December 17 2017

बुख़ारी का कांग्रेस को हिमायत मज़हकाख़ेज़ -बी एस पी

बहुजन समाज पार्टी ( बी एस पी ) ने दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना अहमद बुख़ारी सेकूलर लोगों को समाजवादी पार्टी ( एस पी ) को वोट ना देने की अपील किए जाने का तो ख़ैर मक़दम किया लेकिन ये भी कहा है कि बुख़ारी का कांग्रेस की हिमायत की जा

बहुजन समाज पार्टी ( बी एस पी ) ने दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना अहमद बुख़ारी सेकूलर लोगों को समाजवादी पार्टी ( एस पी ) को वोट ना देने की अपील किए जाने का तो ख़ैर मक़दम किया लेकिन ये भी कहा है कि बुख़ारी का कांग्रेस की हिमायत की जाना इतना ही मज़हकाख़ेज़ है , जितना कि बी एस पी की तन्क़ीद करना|

बी एस पी की तरफ़ से यहां जारी एक बयान में कहा, कांग्रेस पार्टी और समाजवादी पार्टी हुकूमत का अब तक का रिकार्ड , खासतौर के मुस्लिम समाज के जान – माल और मज़हब की हिफ़ाज़त के मामले में इंतेहाई मायूसकुन रहा है , वहीं बी एस पी का रिकार्ड मुकम्मल तौर पर मुस्लिम समाज के लोगों के मफ़ाद और फ़लाह-ओ-बहबूद के लिए काफ़ी शानदार रहा है|

बयान के मुताबिक़ कांग्रेस अगर नरेंद्र मोदी और बी जे पी से लड़ने के काबिल होती तो गुजरात के साथ – साथ मध्य प्रदेश और राजस्थान समेत दीगर रियासतों में बी जे पी इक़तेदार में वापिस नहीं आ पाती| खासतौर पर‌ उत्तरप्रदेश में तो बी एस पी ही बी जे पी को धूल चटा सकती है|

गौरतलब है कि कांग्रेस सदर सोनिया गांधी से मुलाक़ात के बाद सियासी बेहस के दरमयान जुमा को जामा मस्जिद के शाही इमाम सय्यद अहमद बुख़ारी ने आइन्दा लोक सभा इंतेख़ाबात में कांग्रेस की हिमायत का ऐलान करते हुए कहा कि मर्कज़ में हुक्मराँ पार्टी से उन्हें अब भी बहुत शिकायात हैं , लेकिन मुल्क में फ़िर्कावाराना ताक़तों को रोकने के लिए ये फ़ैसला करना पड़ा है| उन्होंने मग़रिबी बंगाल में कांग्रेस की बजाय सिर्फ़ तृणमूल कांग्रेस को वोट देने की अपील की|

बुख़ारी ने अपने रिहायश गाह पर फ़िर्कावारीयत को बदउनवानी से भी ज़्यादा ख़तरनाक क़रार देते हुए लोंगों से कहा , उस वक़्त सब से बड़ा सवाल मुल्क की यकजहती , सालमीयत और सेक्युलारिज़म का है इस लिए मेरी ही नहीं , करोड़ों हिन्दुस्तानी अवाम की ये ख़ाहिश है कि एक मज़बूत क़ौम की तामीर हो जहां बदउनवानी , फ़िर्कापरस्ती और ज़ुल्म के लिए कोई जगह नहीं हो| तमाम पहलूओं पर ग़ौर करने के बाद हम ने आइन्दा लोक सभा इंतेख़ाबात में क़ौमी सतह पर कांग्रेस की हिमायत का फ़ैसला किया है| इस दरमयान , एस पी ने बुख़ारी के बयान पर तल्ख़ तबसरा करते हुए कहा कि बुख़ारी का जहां से मफ़ाद है , वो वहीं चले जाते हैं|

समाजवादी पार्टी के तर्जुमान शिव पाल सिंह यादव ने कहा , बुख़ारी साहब के बारे में सब लोग जानते हैं| वो हमारे ( एस पी ) के साथ भी आए थे उनका मफ़ाद बहुत कुछ यहां भी हो गया है अब दूसरी जगह हो जाएगा तो वहां चले गए हैं| बुख़ारी ने साल 2012 में हुए उत्तरप्रदेश असेम्बली इंतेख़ाबात में समाजवादी पार्टी की हिमायत की थी|

TOPPOPULARRECENT