बेंगलुरु से पैदल चलकर 12 दिन बाद घर पहुंचा प्रवासी मजदूर, सांप के काटने से हुई मौत

बेंगलुरु से पैदल चलकर 12 दिन बाद घर पहुंचा प्रवासी मजदूर, सांप के काटने से हुई मौत

देश में कोरोना संकट काल के चलते लॉकडाउन 5.0 चल रहा है. इसके साथ ही कोरोना के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं. कोरोना लॉकडाउन में प्रवासी मजदूरों का मुद्दा लगातार चर्चा में रहा है. पिछले 2 महीने से देश में अलग-अलग राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों का पलायन जारी है. कई जगहों से दिल दहला देने वाली तस्वीरें आई हैं जहां ये मजदुर अपने बच्चों के साथ पैदल ही अपने घर जा रहे हैं.   सरकार की तरफ से विशेष ट्रेनें भी चलाई गई हैं. लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां करती है. इसी बीच एक दुखद खबर सामने आ रही है. बताना चाहते हैं कि एक 23 वर्षीय प्रवासी मजदुर 12 दिनों के भीतर बेंगलुरु से उत्तर प्रदेश पैदल ही 2 हजार किलोमीटर चलकर आया.  घर पहुचने के बाद मजदुर को सांप ने काट (Snake Bite) लिया और उसकी मौत हो गई.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार यूपी के गोंडा में अपने घर पहुंचने के बाद इस शख्स ने अपने मां को गले से लगाया और फ्रेश होने के लिए चला गया. इसी दौरान 23 वर्षीय मजदुर को सांप ने काट लिया. इस घटना के बाद मृतक की मां पूरी तरह से सदमे में है जो कि बड़ी बेशब्री से अपने बेटे का इंतजार कर रही थी. इस मजदुर ने कितने किलोमीटर चलने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि जहां यह काम करता था वहां के ठेकदार ने उसे पैसे  देने से साफ मना कर दिया.

ज्ञात हो कि यूपी पहुंचने के बाद यह शख्स कुछ दिनों तक क्वॉरेंटाइन में था. 26 मई को यह शख्स आखिरकार अपने घर पहुंचा. लेकिन दुखद खबर कुछ घंटे बाद सामने आ गई . जिसे सुनकर गांव का हर कोई हैरान है. वहीं इसी तरह का एक मामला इससे पहले छत्तीसगढ़ से सामने आया था. जहां क्वॉरेंटाइन सुविधा में मौजूद एक शख्स को सांप ने काट लिया था जिससे उसकी मौत हो गई थी. ठीक इसी तरह ओडिशा में क्वॉरेंटाइन होम में एक शख्स को सांप ने काटा था. जिसके बाद उसे तत्काल अस्पताल में ले जाया गया और वह रिकवर हो सका.

Top Stories