Tuesday , December 19 2017

बेक़सूर अवाम का क़त्ल ग़ैर इस्लामी उल्मा का फ़तवा

ईस्लामाबाद, 08 फरवरी: ( पी टी आई) पाकिस्तान के 50 मुमताज़ उल्मा ने मुशतरका तौर पर फ़तवा जारी करते हुए कहा कि बेक़सूर अवाम की हलाकत चुन चुन कर क़त्ल करने के वाक़ियात और ख़ुदकुश हमले ग़ैर इस्लामी हैं । सुन्नी इत्तिहाद कौंसल ने जो मुल्क की मु

ईस्लामाबाद, 08 फरवरी: ( पी टी आई) पाकिस्तान के 50 मुमताज़ उल्मा ने मुशतरका तौर पर फ़तवा जारी करते हुए कहा कि बेक़सूर अवाम की हलाकत चुन चुन कर क़त्ल करने के वाक़ियात और ख़ुदकुश हमले ग़ैर इस्लामी हैं । सुन्नी इत्तिहाद कौंसल ने जो मुल्क की मुख़्तलिफ़ मज़हबी पार्टीयों का एक वफ़ाक़ है कहा कि कराँची और बलोचिस्तान में सबसे ज़्यादा हलाकत के वाक़ियात पेश आते हैं ।

उन्होंने दहशतगर्दी की शिद्दत से मुज़म्मत करते हुए कहा कि दहशतगर्दी के इलावा फ़िर्कावारीयत और ख़ुदकुश हमले इस्लाम के जज़बा के मुख़ालिफ़ और ममनू है । ख़ुदकश हमले तशद्दुद से मरबूत हैं इससे इस्लाम का नाम बदनाम होता और पाकिस्तान कमज़ोर होता है ।

उन्होंने उलमाए दीन से अपील की कि वो मसाजिद में ज़िंदगी की हुर्मत पर रोशनी डालें और इंसानी ज़िंदगी के बारे में इस्लामी तालीमात से अवाम को वाक़िफ़ करवाए ताकि बे वजह क़त्ल-ओ-ख़ून का सिलसिला ख़त्म हो सके ।

TOPPOPULARRECENT