Wednesday , August 22 2018

बेगुनाह फलस्‍तीनीयों के खून से रंगे है इजरायली PM नेतन्याहू के हाथ- एर्दोगन

सोमवार को अमेरिका ने अपनी यूएस एम्बेसी को जेरुसलम शिफ्ट कर दिया, जो की पहले तेल अवीव में स्थित थी, जिसके बाद ट्रम्प की दुनिया भर के नेताओं और आम जनता द्वारा निंदा की गयी।

सोमवार को जेरुसलम में एम्बेसी शिफ्ट करने के बाद अरब देशों के नेता और दुनिया भर के वह नेता जो फिलिस्तीन समर्थक हैं, ने इस फैसले को अस्वीकार कर इस फैसले की निंदा की।

फिलिस्तीन सर्मथक की अगर बात करें तो तुर्की का नाम सर्वप्रथम आता है, तुर्की देश हर कदम पर फिलिस्तीन के साथ खड़ा होता है और हमेशा फिलिस्तीन के साथ खड़े रहने की प्रतिज्ञा लेता है।

सोमवार को एम्बेसी शिफ्टिंग के बाद तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तय्यिप एर्दोगान ने देर रात फिलीस्तीनी नेता महमूद अब्बास से फ़ोन पर बात की। खबरों के अनुसार दोनों नेताओं ने अमेरिकी दूतावास के स्थानांतरण और फिलिस्तीनियों के खिलाफ इजरायल के हमलों के विचारों का आदान-प्रदान किया और फिलिस्तीनियों की हुई मौत पर शोक प्रकट किया।

इसके बाद 15 मई रात 8 बजे राष्ट्रपति एर्दोगान ने इसरायली पीएम पर बेंजामिन नेतन्याहू पर हमला करते हुए कहा था कि उन्होंने नस्लीय राज्य का नेतृत्व किया और उनके हाथ फलस्तीनी खून से रंगे हैं। एर्दोगान ने यह अपने ट्विटर पोस्ट पर कहा।

उन्होंने पाने ट्वीट में लिखा की “नेतन्याहू एक नस्लीय राज्य के प्रधान मंत्री हैं जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन कर 60+ सालों से रक्षाहीन लोगों की भूमि पर कब्जा किया हुआ है।

“उनके हाथो पर फिलिस्तीनियों का खून है और तुर्की पर हमला करके अपराधों को कवर नहीं कर सकते है।

TOPPOPULARRECENT