Thursday , December 14 2017

बेटी का इलाज कराने आयी थी खातून, गार्ड ने किया इशमतरेज़ि

भागलपुर : एक साल की बेटी का इलाज कराने जेएलएनएमसीएच आयी रानी तालाब की एक खातून के साथ अस्पताल के गार्ड बनारसी यादव ने इशमतरेज़ि किया। खातून ने बरारी थाना में मामले की सनाह दर्ज करायी है। खातून ने बताया कि बुध की रात गार्ड ने उसके साथ इशमतरेज़ि किया था। एफ़आईआर दर्ज होने के बाद गार्ड को हिरासत में ले लिया गया है। खातून थाना इंचार्ज ज्ञान भारती ने खातून का बयान दर्ज कर लिया है। सदर अस्पताल में खातून का मेडिकल करा दिया गया है।

खातून का कहना है कि गार्ड बनारसी यादव कई दिनों से उसका पीछा कर रहा था। उसने बताया कि जेएलएनएमसीएच में जब वह बाथरूम जाती थी तो गार्ड भी उसके पीछे वहां चला जाता था। कई बार उसने उसकी साड़ी भी खींचने की कोशिश किया। जब गार्ड कामयाब नहीं हो पाया तो बुध की रात खातून को बेहोशी का इंजेक्शन देकर उसके साथ चाइल्ड वार्ड में ही इशमतरेज़ि किया। खातून ने बताया कि इशमतरेज़ि करने के बाद सुबह उस गार्ड ने खातून को धमकाया कि अगर वह किसी के पास इसकी ज़िक्र करेगी तो वह उसकी बच्ची को मार देगा। इसलिए उसने चार दिन तक एफ़आईआर दर्ज नहीं करायी। दो दिनों से खातून के पेट में दर्द होने के बाद शौहर को उसने सच्चई बतायी। उसके बाद एफ़आईआर दर्ज करायी गयी। गार्ड बनारसी यादव गोड्डा जिले का रहनेवाला है।

खातून के शौहर ने बताया कि अस्पताल के एक गार्ड के साथ यूनिफॉर्म में ही आया एक सख्श उसे पांच हजार लेकर मामला रफा-दफा करने को कह रहा था। खातून के शौहर ने मामले को दबाने से साफ मना कर दिया।

खातून के शौहर ने बताया कि वह गुजिशता डेढ़ महीने से एक साल की बेटी का इलाज मायागंज में करा रहा था। बेटी को मुसलसल बुखार आ रहा था। उसने बताया कि वह भी ज्यादातर वक़्त अस्पताल में ही रहता है। पर बेहोश किये जाने की वजह से उसकी बीवी को कुछ पता नहीं चल सका।

 

TOPPOPULARRECENT