Monday , December 18 2017

बेनी का इस्तीफ़ा तलब ना करें सोनिया की हाथ जोड़ कर मुलाइम से दरख़ास्त

नई दिल्ली 21 मार्च : अब जबकि समाजवादी पार्टी ने बेनी प्रसाद वर्मा को हुकूमत से निकाल बाहर करने की जेहन साज़ी करली है । सदर नशीन यू पी ए सोनिया गांधी ने मुलाइम सिंह यादव से लोक सभा में मुलाक़ात करते हुए ये ख़ाहिश ज़ाहिर की कि मौसूफ़ बेनी प्रसाद वर्मा के अस्तीफ़ा के मुतालिबा से अलग हो जाएं ।

याद रहे कि लोक सभा में क़ाइद अप्पोज़ीशन सुषमा स्वराज ने यादव की ताईद की थी और ये कहा था कि बेनी प्रसाद का मुलाइम सिंह के ख़िलाफ़ कमीशन लेने का इल्ज़ाम दरअसल बेइज्जती के मुतरादिफ़ है । इस तरह मुलाइम सिंह यादव को सुषमा स्वराज की शक्ल में एक ऐसे गोशे से ताईद हासिल हुई थी जिसके बारे में एस पी खयाल‌ भी नहीं करसकती थी ।

उन्होंने कहा कि इस मुआमले को मुराआत कमेटी से रुजू किए जाने की ज़रूरत है । उस वक़्त सोनिया गांधी भी ऐवान में मौजूद थीं और एस पी-ओ-बी जे पी के दरमयान नई दोस्ती का बग़ौर जायज़ा ले रही थीं । याद रहे कि यू पी ए हुकूमत को एस पी की बाहर से ताईद हासिल है ।

सोनिया गांधी कुछ देर तक जायज़ा लेने के बाद सीधे मुलाइम सिंह की नशिस्त की तरफ़ उस वक़्त गईं जब लोक सभा को दोपहर के वक़्त वक़फ़ा दिया गया था । हालाँकि प्रेस गैलरी में मौजूद प्रेस रिपोर्टर्स को मौसूफ़ा वाज़ह तौर पर नज़र नहीं आरही थीं लेकिन ये बात अपनी जगह मुस्लिमा है कि सोनिया गांधी दोनों हाथ जोड़े मुलाइम सिंह से महव गुफ़्तगु थीं ।

दौरान गुफ़्तगु मुलाइम सिंह ने सोनिया गांधी को बेनी प्रसाद वर्मा की शिकायत की । सोनिया गांधी ने मुलाइम सिंह से दरख़ास्त की कि मौसूफ़ वर्मा के इस्तीफ़ा के मुतालिबा से दस्तबरदार होजाएं । बहरहाल ये मंज़र देख कर बी जे पी अरकान और यू पी ए के सीनयर वज़रा शिशदर रह गए ।

सोनिया गांधी के वहां से जाने के बाद एस पी के बृजभूषण शरण सिंह सुषमा स्वराज और एल के अडवानी के पास आए और उन्हें सोनिया । मुलाइम सिंह बातचीत के बारे में बताया और ये भी कहा कि वो अब भी बेनी प्रसाद के इस्तीफ़ा के अपने मौक़िफ़ पर अटल हैं जबकि मुलाइम सिंह ख़ुद भी बी जे पी अरकान के क़रीब गए और उनसे अपने मौक़िफ़ के बारे में इज़हार-ए-ख़्याल किया और कहा कि वो इस में तबदील नहीं लाएंगे ।

TOPPOPULARRECENT