बेहतर चाल चलन वाले क़ैदीयों की रिहाई का ख़ौरमक़दम

बेहतर चाल चलन वाले क़ैदीयों की रिहाई का ख़ौरमक़दम
Click for full image

हैदराबाद 26 अक्टूबर्: सी पी आई के रुकने असेंबली रवींद्र कुमार ने वज़ीर-ए-दाख़िला नयनी नरसिम्हा रेड्डी के इस एलान का ख़ौरमक़दम किया हैके रियासत की जेलों में उम्र क़ैद की सज़ा काटने वाले एसे क़ैदीयों को रिहा किया जाएगा जो बेहतर किरदार का रिकार्ड रखते हैं।

वज़ीर-ए-दाख़िला को रवाना करदा मकतूब में रवींद्र कुमार ने उन पर-ज़ोर दिया कि वो क़ैदीयों की रिहाई के लिए जो उसोल-ओ-ज़वाबत बनाए गए हैं , उनमें नरमी लाते हुए शफ़्फ़ाफ़ और सादा अमल इख़तियार किया जाये। जो क़ैदी बरसों से अपनी रिहाई का इंतेज़ार कर रहे हैं, उन्हें वज़ीर-ए-दाख़िला के इस एलान से ख़ुशी हुई होगी।

उन्होंने कहा कि 60 साल की उम्र पूरी करने वाले क़ैदीयों को भी उनके बेहतर तर्ज़-ए-अमल और चाल चलन को देखते हुए रिहा कर दिया जाना चाहीए और अब जो क़ैदी तवील मुद्दत से अलील हैं , उन्हें भी इन्सानी बुनियादों पर रिहा करने पर ग़ौर किया जा सकता है।

Top Stories