Thursday , December 14 2017

बेख़बर मरीज़ों पर तिब्बी तजुर्बात तशवीशनाक

भोपाल, ०३ जनवरी: (एजेंसीज़) मध्य प्रदेश के अर्बाब मजाज़ ने बच्चों और मरीज़ों पर उन की इत्तिला के बगै़र किए जाने वाले तिब्बी तजुर्बात को तशवीशनाक क़रार देने के इलावा यहां एक वाक़िया में मुलव्वस 12 डाक्टरों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई ना किए

भोपाल, ०३ जनवरी: (एजेंसीज़) मध्य प्रदेश के अर्बाब मजाज़ ने बच्चों और मरीज़ों पर उन की इत्तिला के बगै़र किए जाने वाले तिब्बी तजुर्बात को तशवीशनाक क़रार देने के इलावा यहां एक वाक़िया में मुलव्वस 12 डाक्टरों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई ना किए जाने के फ़ैसले को शदीद तन्क़ीद का निशाना बनाया।

तफ़सीलात के बमूजब मज़कूरा 12 डाक्टरों के ख़िलाफ़ बच्चों और मरीज़ों पर उन की इत्तिला के बगै़र तिब्बी तजुर्बात का मुक़द्दमा दर्ज किया गया था लेकिन उन्हें फी कस 5 हज़ार रुपय के जुर्माने के साथ बरी करदिया गया। दरीं असना समाजी कारकुनों और अपोज़ीशन जमातों ने इस फ़ैसले को एक मज़ाक़ क़रार देते हुए ग़ैर जांबदार पुलिस ओहदेदारों के ज़रीया उस की अज़सर-ए-नौ तहक़ीक़ात का मुतालिबा किया है।

इंदौर में जनसयात के मुताल्लिक़ तैय्यार की जाने वाली अदवियात का तजुर्बा किया गया था और ये तजुर्बात यहां सैंकड़ों अफ़राद पर उन की इत्तिला के बगै़र किया गया। ज़राए ने इत्तिला देते हुए कहा कि इस तरह के तिब्बी तजुर्बात के दौरान मरीज़ को बेख़बर रखा जाता है।

मध्य प्रदेश के वाक़िया में जिन डाक्टरों को ख़ाती क़रार दिया गया, ये मसला किस तरह मंज़रे आम पर आया, उस की हनूज़ इत्तिला नहीं। मध्य प्रदेश में इस वाक़िया के ख़िलाफ़ शिकायत करने वाले डाक्टर आनंद राय ने मीडीया नुमाइंदों से इज़हार-ए-ख़्याल करते हुए कहा कि जब कोई शख़्स मामूल के चैकअप के लिए दवाख़ाना से रुजू होता है तो इस की इत्तिला के बगै़र इस पर तिब्बी तजुर्बात किए जाते हैं जो कि मुजरिमाना सरगर्मी है और इस तरह के वाक़ियात का सद्द-ए-बाब ज़रूरी है।

TOPPOPULARRECENT