Saturday , May 26 2018

बैंगलौर सेंट्रल जेल में जयललिता (कैदी नम्बर 7402) की गुजरी पहली रात

तमिलनाडु की वज़ीर ए आला के Secretariat से जुड़े 4 अहम ओहदेदार जयललिता से मुलाकात के लिए आज यहां से बेंगलूर के लिए रवाना हो गए. वज़ीर ए आला जयललिता को बदउनवानी के मामले में 4 साल जेल की सजा सुनाई गई है|

तमिलनाडु की वज़ीर ए आला के Secretariat से जुड़े 4 अहम ओहदेदार जयललिता से मुलाकात के लिए आज यहां से बेंगलूर के लिए रवाना हो गए. वज़ीर ए आला जयललिता को बदउनवानी के मामले में 4 साल जेल की सजा सुनाई गई है|

हवाई अड्डा ज़राये के मुताबिक, साबिक चीफ सेक्रेटऱी और वज़ी ए आला की मौजूदा मुशीर शीला बालकृष्णन, सेक्रेटरी वेंकटरमन, रामालिंगम और सुदलई कन्नन एक ज़ाती तैय्यारे से रवाना हुए हैं|

कल एक खुसूसी अदालत ने करप्शन के मामले में जयललिता को मुजरिम ठहराते हुए 4 साल जेल की सजा सुनाई थी और उन पर 100 करोड़ रूपए का भारी जुर्माना भी लगाया था|

जयललिता, उनकी साथी शशिकला, उनके बेटे वी एन सुधाकरन और उनकी भतीजी इलावरासी को भी चार साल जेल की सजा सुनाई गई है|

बैंगलौर सेंट्रल जेल में जयलिलता को मिला है कैदी नम्बर 7402|

* जयललिता को 4 साल की कैद, 100 करोड़ का जुर्माना
* शशिकला, सुधाकरन, इल्वारासी को 4 साल की कैद, 10-10 करोड़ का जुर्माना
* जयललिता के पास से ज़ब्त प्रापर्टी को भी 100 करोड़ में एडजस्ट किया जाएगा
* चूँकि फैसला सेशन जज का है, इसलिए अपील और ज़मानत की अर्जी हाई कोर्ट में लगेगी
* मामला कर्नाटक हाई कोर्ट में जाएगा

TOPPOPULARRECENT