Tuesday , December 12 2017

बैन-उल-अक़वामी मालीयाती फ़ंड के रोल को मज़बूत बनाने की वकालत

नई दिल्ली 02 नवंबर (पी टी आई) फ़्रांस के तफ़रीही मुक़ाम कीन्स में मुनाक़िद होने वाली G20 चोटी कान्फ्रॆस में हिंदूस्तान के इलावा फ़्रांस, ब्राज़ील, अमरीका, कैनेडा, चीन,अर्जेंटिना , आस्ट्रेलिया, सऊदी अरब, तुर्की, बर्तानिया के इलावा दीगर ममा

नई दिल्ली 02 नवंबर (पी टी आई) फ़्रांस के तफ़रीही मुक़ाम कीन्स में मुनाक़िद होने वाली G20 चोटी कान्फ्रॆस में हिंदूस्तान के इलावा फ़्रांस, ब्राज़ील, अमरीका, कैनेडा, चीन,अर्जेंटिना , आस्ट्रेलिया, सऊदी अरब, तुर्की, बर्तानिया के इलावा दीगर ममालिक शिरकत कर रहे हैं लेकिन ये तवक़्क़ो की गई है कि बैन-उल-अक़वामी मालीयाती फ़ंड के लिए नए क़र्ज़ उसूलों को वज़ा किया जायॆ।

G20 ने तवक़्क़ो ज़ाहिर की है कि इस कान्फ़्रैंस के दौरान बैन-उल-अक़वामी मालीयाती फ़ंड और इलाक़ाई फंड्स के दरमयान ताल मेल होना चाहीए और आई ऐम एफ़ को हमा क़ौमी मक़ासिद के साथ एक मुस्तहकम बनाया जाना चाहीए ताकि हंगामी हालात से गुरेज़ किया जा सकॆ ।

G20 ममालिक के आम तजज़िया ये है कि बैन-उल-अक़वामी मालीयाती फ़ंड के रोल और इस की गुंजाइश को मज़ीद मुस्तहकम बनाया जायॆ।

TOPPOPULARRECENT