Tuesday , December 12 2017

बॉम्बे हाईकोर्ट के फ़ैसला को सुप्रीमकोर्ट में चैलेंज

मुंबई: हुकूमत महाराष्ट्र अंदरून एक हफ़्ता सुप्रीमकोर्ट में ख़ुसूसी तवज्जे दहानी की दरख़ास्त एसएलपी दाख़िल करेगी ताकि टक्कर मार कर फ़रार होने के केस में फ़िल्मी अदाकार को इल्ज़ामात से बरी कर देने से मुताल्लिक़ बॉम्बे हाईकोर्ट के फ़ैसले को चैलेंज किया जा सके । ला ऐंड जोडिशरी डिपार्टमेंट के एक ओहदेदार ने बताया कि इस ख़ुसूस में ख़ुसूसी मुराफ़ा दाख़िल करने के लिए रियासती वुकला को हिदायात जारी कर दी गई हैं।

हाईकोर्ट के फ़ैसले की बुनियादों मेरिट्स को चैलेंज किया जाएगा। तवक़्क़ो है कि अंदरून एक हफ़्ता एसएलपी दाख़िल कर दी जाएगी। चीफ़ मिनिस्टर महाराष्ट्र मिस्टर देवेंद्र फडणवीस ने ये ऐलान किया था कि सलमान ख़ां को मंसूबा इल्ज़ामात से बरी किए जाने के ख़िलाफ़ रियासती हुकूमत बहुत जल्द अदालत इला लिया से रुजू होगी।

सरकारी ज़राए ने बताया कि क़ानून के मुताबिक़ हाईकोर्ट के फ़ैसले को अंदरून90 यौम हुकूमत चैलेंज कर सकती है । बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्टिस ए आर जोशी ने गुज़िशता साल10 दिसंबर को50 साला फ़िल्मी अदाकार को हिट ऐंड रन केस2002 के तमाम इल्ज़ामात से बरी कर दिया था।

उन्होंने बताया कि सेशन कोर्ट ने आँजहानी पुलिस कांस्टेबल रवींद्र पाटेल के बयान को बतौर गवाह क़ुबूल कर लिया था लेकिन हाईकोर्ट ने अपने फ़ैसले में पाटेल के बयान को कुलअदम क़रार दिया जब कि मई2015 मे सेशन कोर्ट जज डी डब्लयू देशपाने ने सलमान ख़ां को मुजरिम क़रार देते हुए5 साल की सज़ाए क़ैद सुनाई थी।

TOPPOPULARRECENT