Thursday , January 18 2018

बॉयफ्रेंड के सामने प्रेमिका के साथ ऑटों ड्राइवरों ने किया गैंगरेप

दिल्ली के निर्भया कांड को पटना से सटे बिहटा में कुछ दरिंदो ने दोहराने की कोशिश की। पहले बॉयफ्रेंड को बुरी तरह से पीटा फिर उसे बंधक बनाकर उसकी प्रेमिका के साथ गैंगरेप किया। बिहटा-डुमरी रोड में नागा बाबा पुल के पास (सड़क से दौ सौ गज ह

दिल्ली के निर्भया कांड को पटना से सटे बिहटा में कुछ दरिंदो ने दोहराने की कोशिश की। पहले बॉयफ्रेंड को बुरी तरह से पीटा फिर उसे बंधक बनाकर उसकी प्रेमिका के साथ गैंगरेप किया। बिहटा-डुमरी रोड में नागा बाबा पुल के पास (सड़क से दौ सौ गज हटकर एचपीसीएल के जेरे तामीर फैक्ट्री के पीछे) जुमेरात को दिनदहाड़े छह ऑटो ड्राइवरों ने इस घिनौनी वाकिया को अंजाम दिया और भाग निकले। तालिबा के साथ गैंगरेप होने का पता चलते ही हरकत में आयी पुलिस ने बिहटा के दिलावरपुर के रहने वाले नवल सिंह के बेटे दीपक को गिरफ्तार कर लिया। शुरुआती दौर में तालिबा के बॉयफ्रेंड के भी गैंगरेप में शामिल होने की बात सामने आई, लेकिन जांच में यह बात गलत निकली। गैंगरेप के तीन मुल्ज़िम चुनचुन कुमार, नंदा कुमार और सोनू कुमार ऑटो चलाते हैं। सभी दिलावरपुर के ही हैं। मुतासिरा का रेफरल अस्पताल में मेडिकल कराया गया, जिसमें गैंगरेप की तसदीक़ हुई है।
पुलिस अब भी तीन लोगों की तलाश में छापेमारी कर रही है। इधर, पुलिस ने मुतासिरा को थाने लाया और उसके बाद रेफरल अस्पताल, बिहटा में मेडिकल जांच कराने के लिए भेजा, जिसमें इशमतरेज़ि की तसदीक़ हो गयी।

मौसी के घर पर आयी थी

जानकारी के मुताबिक लड़की भोजपुर, संदेश, खोलपुरा गांव की रहने वाली है और उसी गांव के के रहने वाले वशिष्ठ नारायण यादव के बेटा इंटर की तालिबा काजू उर्फ उदय कुमार के साथ दोस्ती थी। लड़की बिहटा वाकेय विशंभरपुर के रहने वाली अपनी मौसी के पास मंगल को आयी थी। जुमेरात को उसके दोस्त काजू ने फोन करके बिहटा देवी मंदिर के पास उसे मिलने को बुलाया था।

काजू के बुलाने पर लड़की पहुंची और दोनों आपस में बातें करते हुए नागा बाबा पुल के समीप जा कर बैठ गये। उन दोनों की सरगरमियों को भैंस चरा रहे बिहटा के दिलावरपुर के रहने वाले दीपक कुमार ने देखा और उसकी नीयत खराब हो गयी। इसके बाद उसके मन में शैतान जाग उठा और उसने अपने ही गांव के चुनचुन कुमार (22 साल), नंदा कुमार (24 साल), सोनू कुमार (22 साल) व दो दीगर को बुला लिया। छह की तादाद में रहे नौजवानों ने नाबालिग तालिबा व काजू के साथ मारपीट की गयी और दोनों को बगल में ही सुनसान जगह पर ले जाया गया। मुलजिमों ने काजू को मुंह व पैर बांध कर यरगामल बना लिया और उसकी आंखों के सामने ही इजतेमाई इशमतरेज़ि किया। उन लोगों ने लड़की का भी मुंह बांध दिया था। लड़की ने किसी तरह से मुंह से कपड़ा हटा और हल्ला करना शुरू कर दिया।

शोर करने पर गाँव वालों ने दौड़ कर एक को पकड़ा

इसी दरमियान पास में लकड़ी की कटाई कर रहे मियां-बीवी को लड़की की आवाज सुनायी दी। दोनों किसी अनहोनी वाकिया की खदशा ज़ाहिर करते हुए दौड़ कर बिहटा-लई मार्ग पर पहुंचे और शोर मचाया। इसके बाद काफी तादाद में गाँव वाले व दीगर जुट गये। वे लोग जाहे हादसा की तरफ दौड़े और एक मुल्ज़िम को पकड़ लिया। बाकी वहां से भाग निकले। लोगों ने दीपक की पिटाई करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया। मुतासिरा का कहना था कि छह बदमाशों ने हम दोनों का मुंह बांध दिया। इसके बाद मारपीट करते हुए उसके साथ इजतेमाई इशमतरेज़ि किया। बदमाशों के आगे उसकी एक न चली और वह बेहोश हो गयी। देही एसपी हरिकिशोर राय ने बताया कि वाकिया को छह नौजवानों ने अंजाम दिया था, जिनमें से एक की गिरफ्तारी कर ली गयी है। बाकी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

TOPPOPULARRECENT