Wednesday , September 19 2018

बोग्स राशन कार्ड्स का पता चलाने पर ज़ोर

कमिशनर महिकमा सिविल स्पलाई पार्था सारथी निज़ामबाद में ज़िला के सिविल स्पलाईज़ के ओहदेदारों के साथ एक जायज़ा मीटिंग मुनाक़िद किया।

कमिशनर महिकमा सिविल स्पलाई पार्था सारथी निज़ामबाद में ज़िला के सिविल स्पलाईज़ के ओहदेदारों के साथ एक जायज़ा मीटिंग मुनाक़िद किया।

इस मौके पर ओहदेदारों को मुख़ातब करते हुए कहा कि साबिक़ हुकूमतें फ़लाही इस्कीमात से इस्तेफ़ादा के लिए राशन कार्ड को लाज़िमी रखा था जिस की वजह से हर शख़्स राशन कार्ड हासिल किया था।

उन्होंने बोग्स राशन कार्ड के ख़ातमा के लिए मंसूबा तरीके से इक़दामात करने की ओहदेदारों से ख़ाहिश की। राशन कार्ड्स को आधार से मरबूत करने के लिए इस माह की 30 अगस्ट् तक मोहलत दी गई थी लेकिन इस में तौसीअ करते हुए 15 सितंबर तक मौक़ा फ़राहम किया जा रहा है।

मुत्तहदा आंध्र प्रदेश के तीसरे मरहले के रचाबंदा में 17 लाख राशन कार्ड फ़राहम किए गए थे। और इन राशन कार्ड गीरनदों को आधार से मरबूत किया गया।

रियासत में 10 फ़ीसद बोग्स राशन कार्ड्स है। पिछ्ले एक साल से आधार से मरबूत का सिलसिला जारी रहने के बावजूद भी ज़िला में आधार कार्ड को ऑनलाइन करने का सिलसिला सुस्त रफ़्तार है।

चीफ़ मनसतर चन्द्रशेखर राव‌ बोगसराशन कार्ड के ख़ातमे के लिए बेहद दिलचस्प है। डीलरों के पास मौजूदा कार्ड को फ़ौरी वपि करने 15 सितंबर तक आधार से मरबूत को यक़ीनी बनाते हुए बोग्स राशन कार्ड याफ़ता अफ़राद पर कार्रवाई करने मुस्तहिक़ अफ़राद के पास आधार कार्ड ना होने की सूरत में उनके राशन कार्ड को बरख़ास्त नहीं किया जाएगा।

अदलिया के फ़ैसले के मुताबिक़ अमल आवरी करने के लिए डीलर्स से ख़ाहिश की। पार्था सारथी ने डिस्ट्रिक्ट एसोसीएशन
निज़ामबाद की तरफ से दी गई नुमाइंदगी पर ग़ौर करने का इरादा ज़ाहिर किया।

TOPPOPULARRECENT