Thursday , December 14 2017

बोस्टन यूनीवर्सिटी में हिंदूस्तानी तालिब-ए-इल्म का क़त्ल

बोस्टन यूनीवर्सिटी में ज़ेर-ए-तालीम एक 24 साला हिंदूस्तानी तालिब-ए-इल्म की इस वक़्त मौत वाक़्य हो गई जब किसी नामालूम फ़र्द ने इस के सर और पैर पर गोली चला दी। बोस्टन के महकमा पुलिस और यूनीवर्सिटी ओहदेदारों ने अब तक मक़्तूल तालिब-ए-इल्म के

बोस्टन यूनीवर्सिटी में ज़ेर-ए-तालीम एक 24 साला हिंदूस्तानी तालिब-ए-इल्म की इस वक़्त मौत वाक़्य हो गई जब किसी नामालूम फ़र्द ने इस के सर और पैर पर गोली चला दी। बोस्टन के महकमा पुलिस और यूनीवर्सिटी ओहदेदारों ने अब तक मक़्तूल तालिब-ए-इल्म के नाम का इन्केशाफ़ नहीं किया है, क्योंकि उन्हें पोस्टमार्टम की रिपोर्ट का इंतेज़ार है और इसलिए तालिब-ए-इल्म के अरकान ख़ानदान को भी हनूज़ मतला नहीं किया गया है लेकिन यहां के हिंदूस्तानी सिफ़ारत ख़ाना के ओहदेदारों ने पी टी आई को सिर्फ इतना बताया कि मरने वाला तालिब-ए-इल्म हिंदूस्तानी था।

ये तालिब-ए-इल्म रियासत ओडीशा का मुतवत्तिन है जो यूनीवर्सिटी ग्रेजूएट आफ़ स्कूल मैनेजमेंट में ज़ेर-ए-तालीम था। इबतिदाई तहक़ीक़ात से पता चलता है कि के शशी धर राव को गोलीयों के ज़ख्म आए हैं।

TOPPOPULARRECENT