Thursday , December 14 2017

ब्रसेल्ज़ में यूनान के माली बोहरान पर बातचीत नाकाम

यूनान और उसे क़र्ज़ देने वाले आलमी इदराओं के दरमयान मुज़ाकरात का ताज़ा तरीन दौर भी बेनतीजा रहा है और मुआहिदे की शराइत पर इख़तिलाफ़ात ताहाल बरक़रार हैं।

यूनान और उसे क़र्ज़ देने वाले आलमी इदराओं के दरमयान मुज़ाकरात का ताज़ा तरीन दौर भी बेनतीजा रहा है और मुआहिदे की शराइत पर इख़तिलाफ़ात ताहाल बरक़रार हैं।

यूरोपीय कमीशन के एक तर्जुमान का कहना है कि इतवार को ब्रसेल्ज़ में होने वाली बातचीत में अहम पेशरफ़्त हुई लेकिन अब भी फ़रीक़ैन की तजावीज़ में ख़ासा फ़ासिला है।

इस मुज़ाकरात में आलमी मालीयाती फ़ंड, यूरोपीय कमीशन और यूरोप के मर्कज़ी बैंक के नुमाइंदों के इलावा यूनानी हुकूमत के नुमाइंदे शरीक थे। यूरोप चाहता है कि यूनान अपने अख़राजात में दो अरब यूरोज़ की कमी करे, तभी उसे इक़्तिसादी मदद मिलेगी।

TOPPOPULARRECENT