Saturday , December 16 2017

ब्रिगेडियर उस्मान और वीर अब्दुल हमीद को शहीद नहीं मानती MP की भाजपा सरकार

भोपाल: देश की रक्षा में अपनी जान कुर्बान कर देने में मुसलमान हमेशा आगे रहे हैं। पाकिस्तान से हुई तीनों युद्धों में हजारों मुस्लिम जवानों ने सीमा पर अपने दूसरे साथी जवानों के साथ न केवल हमेशा बराबरी का मोर्चा संभाला है बल्कि वह आगे भी रहे हैं। सैकड़ों ऐसे मुस्लिम नाम हैं जिनकी बहादुरी की मिसाल दी जाती हैं।विशेष रूप से ब्रिगेडियर उस्मान और वीर अब्दुल हमीद के नाम से कौन वाकिफ नहीं है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

लेकिन अगर कोई न वाकिफ़ है तो वह है मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार। वह इन दोनों महान हस्तियों को शहीद नहीं मानती है।
न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसर मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार नौशेरा के शेर के नाम से मशहूर ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान वीर अब्दुल हमीद जिसकी बहादुरी की मिसाल दी जाती है भोपाल में बनी शौर्य स्मार्क में इन मुस्लिम शहीदों को जगह नहीं दी गई है।
मध्य प्रदेश सरकार द्वारा भोपाल में निर्मित किए गए शौर्य स्मार्क में स्वतंत्रता से लेकर अब तक के सभी सैन्य अभियान और उसके शहीदों के नाम और उनके चित्रों को तो शामिल किया गया है लेकिन इसमें वीर अब्दुल हमीद और ब्रिगेडियर उस्मान को जगह नहीं दी गई है जिससे मुस्लिम समुदाय में सख्त नाराजगी है।

TOPPOPULARRECENT