ब्रितानी मुसलमानों में बढ़ता बहुविवाह

ब्रितानी मुसलमानों में बढ़ता बहुविवाह
ब्रिटेन, 26 सितंबर: ब्रिटेन की इस्लामी शरिया काउंसिल के मुताबिक़ ब्रितानी मुसलमानों की दूसरी और तीसरी पीढ़ी में बहुविवाह बढ़ रहा है. इस्लामी शरिया काउंसिल इस्लामी कानूनों पर कानूनी आदेश और मार्गदर्शन देता है.

ब्रिटेन, 26 सितंबर: ब्रिटेन की इस्लामी शरिया काउंसिल के मुताबिक़ ब्रितानी मुसलमानों की दूसरी और तीसरी पीढ़ी में बहुविवाह बढ़ रहा है.

इस्लामी शरिया काउंसिल इस्लामी कानूनों पर कानूनी आदेश और मार्गदर्शन देता है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँअप्रवासियों की संख्या में भारी कटौतीनक़ाब के मामले में पहला फ़ैसला आज’पाकिस्तान को आर्थिक सहायता रोके ब्रिटेन’
काउंसिल के मुताबिक़ ये दौर पिछले 15 सालों से चल रहा है और बहुविवाह सबसे महत्वपूर्ण कारणों में से एक है जिसकी वजह से महिलाओं के साथ तलाक़ के मामले पेश आ रहे हैं.

ब्रिटेन में एक से ज़्यादा पत्नी होना ग़ैर-कानूनी है, लेकिन ब्रितानी मुसलमान अपनी दूसरी शादी को दर्ज नहीं करवाते और सिर्फ़ एक धार्मिक समारोह का आयोजन किया जाता है.

वर्ष 2010 के शरिया काउंसिल के आंकड़ों के अनुसार बहुविवाह के मामले बढ़ रहे हैं.

खोर्ला हसन इस्लामी कानून में लेक्चरर हैं और शरिया काउंसिल में काम करती हैं.

वो कहती हैं, “पिछले साल हमें 700 तलाक़ की दरख़्वास्तें मिलीं और इनमें से 43 मामलों में कारण बहुविवाह था.

दोनों पत्नियों से प्यार

इमरान (असली नाम नहीं) की दो पत्नियाँ हैं. वो कहते हैं कि वो दोनों का ही अच्छा ख़्याल रखते हैं.

दोनों से प्यार”मैं दोनो से ही प्यार करता हूँ. ये बात तो है कि आप एक पत्नी से दूसरे के मुकाबले ज़्यादा प्यार कर सकते हैं. ये आपके व्यक्तित्व पर निर्भर करता है. मैं एक पत्नी के साथ एक दिन और रात गुज़ारता हूँ, और दूसरी पत्नी के साथ दूसरा दिन और रात”

इमरान
वो कहते हैं, “मैं दोनो से ही प्यार करता हूँ. ये बात तो है कि आप एक पत्नी से दूसरे के मुकाबले ज़्यादा प्यार कर सकते हैं. ये आपके व्यक्तित्व पर निर्भर करता है. मैं एक पत्नी के साथ एक दिन और रात गुज़ारता हूँ, और दूसरी पत्नी के साथ दूसरा दिन और रात. मैं अपनी पहली पत्नी से दूसरी शादी के बारे में नहीं बताया था. थोड़े से वक्त के बाद उसने इसे स्वीकार लिया.”

आयशा (असली नाम नहीं) तलाक़शुदा हैं और तीन बच्चों की माँ भी. वो कहती हैं कि उन्होंने दूसरी पत्नी होना स्वीकार किया.

“जब उसने मुझसे कहा कि मैं अपनी पहली पत्नी को छोड़ दूँगा और तुम्हारे साथ रहूँगा तो मैने सोचा कि मैं उसके साथ 24 घंटे नहीं रहना चाहती. मैं हमेशा उसके लिए खाना नहीं बनाना चाहती थी. फिर मैंने कहा कि मैं तुम्हारी दूसरी पत्नी बनना चाहती हूँ. फिर उसने पहली पत्नी से बात की और वो तैयार हो गई.”

आयशा के अलावा दूसरी कई महिलाओं की बात करें तो उनके पास विकल्प नहीं होते हैं. उनके पति उनसे सिर्फ़ बताते हैं कि उन्होंने दूसरी शादी कर ली है.

ऐना मेरी हचिनसन पारिवारिक मामलों से जुड़ी वकील हैं. वो कहती हैं कि दूसरी पत्नियों की स्थिति पहली पत्नी से कम सुरक्षित होती है लेकिन महिलाओं को इसका पता ही नहीं होता.

इससे पहले ब्रितानी सांसद बैरोनेस श्रीला फ़्लेदर शिकायत कर चुकी हैं कि पुरुष बहुविवाह का इस्तेमाल सरकारी फ़ायदों के लिए करते हैं. उन्होंने कहा कि इस समस्या से निपटा जाना चाहिए लेकिन राजनीतिज्ञ ऐसा करने से हिचक रहे हैं.

Top Stories