Monday , December 11 2017

ब्रेंडन मैकुलम: करियर के आखिरी टेस्ट में यादगार पारी, ऐसा कारनामा करने वाले पहला कप्तान:

images(2)

नई दिल्ली। न्यूजीलैंड के टेस्ट टीम के कप्तान ब्रेंडन मैकुलम के लिए उनका आखिरी टेस्ट (101वां) मैच बेहद यादगार बन गया। इस टेस्ट में उन्होंने टेस्ट मैच में सबसे तेज शतक लगाने का रिकॉर्ड तो बनाया ही साथ ही साथ एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया। मैकुलम ने इस टेस्ट मैच में 86 वर्ष पुराने इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

ब्रेंडन मैकुलम एक कप्तान के तौर पर अपने करियर के आखिरी टेस्ट मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे और अपने करियर के आखिरी यानी 101 वें टेस्ट मैच की दोनों पारियों में उन्होंने 170 रन बनाए। पहली पारी में मैकुलम ने 145 रन जबकि दूसरी पारी में 25 रन बनाए। इसके साथ ही उन्होंने 86 वर्ष पहले वर्ष 1930 में वेस्टइंडीज के कार्ल नुनेस द्वारा बनाए गए इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया। कार्ल ने इंग्लैंड के खिलाफ वर्ष 1930 में एक कप्तान के तौर पर अपने आखिरी टेस्ट मैच में 158 रन बनाए थे। उन्होंने पहली पारी में 66 रन और दूसरी पारी में 92 रन बनाए थे। इसके बाद से किसी भी टेस्ट कप्तान ने अपने आखिरी टेस्ट मैच में इतने रन नहीं बनाए थे। आखिरकार इस रिकॉर्ड को मैकुलम ने तोड़ दिया।

TOPPOPULARRECENT