ब्रेक्सिट का असर: थम नहीं रहा है पाउंड का गिरावट

ब्रेक्सिट का असर: थम नहीं रहा है पाउंड का गिरावट
Click for full image

शुक्रवार को जिस तरह एक दिन में पाउंड में सबसे बड़ी गिरावट देखी गई, वह सिलसिला सोमवार को भी दिख रहा है। सोमवार को एशियाई बाज़ार में कारोबार शुरू होने के बाद एक पाउंड की क़ीमत 1.3440 डॉलर थी। यह शुक्रवार की तुलना में क़रीब तीन फ़ीसद कम है। एक यूरो के मुक़ाबले पाउंड 1.2147 पर था। यह गिरावट क़रीब 1.4 फ़ीसद की थी।

शुक्रवार को पाउंड डॉलर के मुक़ाबले सबसे निचले स्तर पर था। एक समय में यह गिरकर 1.3236 प्रति डॉलर तक पहुंच गया था। बाज़ार की धारणा को शांत करने के प्रयास के तहत ब्रिटेन के वित्तमंत्री जॉर्ज आसवार्न सोमवार को एक बयान जारी कर सकते हैं।

जनमत संग्रह के नतीजे आने के बाद से वो अबतक सार्वजनिक तौर पर कुछ नहीं बोले हैं। एशियाई अधिकारी भी बाज़ार को स्थिर करने के लिए क़दम उठा रहे हैं। एक आपातकालीन बैठक के बाद जापान के वित्त मंत्री तारो आसो ने कहा कि प्रधानमंत्री शिंजो एबे ने कहा है कि अगर ज़रूरी हो तो मुद्रा बाज़ार को स्थिर करने के लिए क़दम उठाए जाएं। उनका कहना है कि वित्तिय बाज़ारों में जोख़िम और अस्थिरता अभी भी बनी हुई है।

जापान के शेयर बाज़ार निक्केई 225 में शुक्रवार को क़रीब आठ फ़ीसद की गिरावट देखी गई थी, सोमवार को कारोबार शुरू होने पर इसमें 1.3 फ़ीसद की गिरावट आई।
चीन के सेंट्रल बैंक ने यूयान का 0.9 फ़ीसद अवमूल्यन कर दिया, पिछले साल अगस्त के बाद से यह सबसे बड़ी पहल है।

Top Stories