बग़दाद: कार बम धमाकों में 65 की मौत

बग़दाद:  कार बम धमाकों में 65 की मौत
बगदाद, 28 मई: इराक की दारुल हुकूमत बग़दाद में 11 मुकामो पर हुए सिलसिलेवार कार बम धमाकों में कम से कम 65 लोग मारे गए हैं और कई ज़ख़्मी हैं। आफीसरों का कहना है कि ये सिलसिलेवार कार बम धमाके ज़्यादातर शिया अक्सरियत वाले इलाकों में हुए हैं।

बगदाद, 28 मई: इराक की दारुल हुकूमत बग़दाद में 11 मुकामो पर हुए सिलसिलेवार कार बम धमाकों में कम से कम 65 लोग मारे गए हैं और कई ज़ख़्मी हैं।

आफीसरों का कहना है कि ये सिलसिलेवार कार बम धमाके ज़्यादातर शिया अक्सरियत वाले इलाकों में हुए हैं।

यह वाकिया एक ऐसे वक्त में हुआ है जब पिछले कुछ दिनों से सियासी और फिर्कावाराना तनाव बढ़ा हुआ है। सहाफियो के मुताबिक इस वाकिया के बाद से इराक में 2006 और 2007 में तेज़ी से फैली फिर्कावाराना तशद्दुद की यादें ताज़ा हो गई हैं और डर है कि हालात फिर से वैसे ही न हो जाएँ।

बताया जा रहा है कि पीर के दिन बग़दाद में कम से कम 11 मुकामों पर कार बम धमाके हुए हैं। ख़बरों में कहा गया है कि एक कार बम धमाका बग़दाद में भीड़-भाड़ वाले इलाके सल्दोन सड़क पर हुआ।

ज़ैनुल-अबिदीन इस वाकिया के एक चश्मदीद गवाह हैं और उन्होंने बताया कि मरने वालों में एक चार साल का बच्चा भी शामिल है। उनका कहना था, “इस तरह के मासूम लोगों ने क्या गुनाह किया जो इन्हें निशाना बनाया गया?”।

हालांकि अभी तक किसी गुट ने इन हमलों की ज़िम्मेदारी नहीं ली है लेकिन पिछले साल से ही शिया और सुन्नी मुसलमानों के बीच तनाव बढ़ा है।

सुन्नी मुसलमानों ने वज़ीर ए आज़म नूरी-अल-मलिकी पर अपने खिलाफ भेदभाव के इल्ज़ाम लगाए हैं। हालांकि शिया अक्सरियत की हुकूमत के लोगो ने इन इल्ज़ामों की मुसलसल तरदीद की है।
कार बम धमाकों में 65 की मौत
करीब एक हफ़्ते पहले ही मुल्क में हुए कई बम धमाकों में कम से कम 70 लोगों की मौत हुई थी और कई ज़ख़्मी हुए थे।

Top Stories