Wednesday , December 13 2017

भंवरी देवी क़त्ल मुआमला : मुल्ज़िमीन की जयपुर और अजमेर सेंटर्ल जेल मुंतक़ली

भंवरी देवी अग़वा और क़त्ल मुआमला के कलीदी मुल्ज़िमीन कांग्रेस एम एल एज़ महीपाल मदेरणा और मलिकान सिंह को हुकूमत की हिदायत के मुताबिक़ जोधपुर जेल से मुंतक़िल किया जाएगा। ओहदेदारों के मुताबिक़ मदेरणा को जयपुर सैंटर्ल जेल मुंतक़िल किया

भंवरी देवी अग़वा और क़त्ल मुआमला के कलीदी मुल्ज़िमीन कांग्रेस एम एल एज़ महीपाल मदेरणा और मलिकान सिंह को हुकूमत की हिदायत के मुताबिक़ जोधपुर जेल से मुंतक़िल किया जाएगा। ओहदेदारों के मुताबिक़ मदेरणा को जयपुर सैंटर्ल जेल मुंतक़िल किया जाएगा और मलखान सिंह को हुकूमत की हिदायत के मुताबिक़ अजमेर सेंटर्ल जेल मुंतक़िल किया जाएगा। महकमा दाख़िला ने इस ताल्लुक़ से हिदायत जारी कर दी है।

याद रहे कि सी बी आई ने क़ब्लअज़ीं महकमा दाख़िला में एक दरख़ास्त दाख़िल करते हुए ख़ाहिश ज़ाहिर की थी कि दोनों मुल्ज़िमीन को दीगर जेलों में मुंतक़िल किया जाए। अपनी दरख़ास्त में सी बी आई ने वाज़िह तौर पर कहा था कि दोनों मुल्ज़िमीन गवाहों पर असर अंदाज़ होने की कोशिश कर रहे थे, जिस पर अदालत ने रियास्ती हुकूमत को इस मुआमला पर मकतूब तहरीर करते हुए हुकूमत से राय तलब की थी। ये दोनों मुल्ज़िमीन को दीगर जेलों में मुंतक़िल करने का फ़ैसला किया गया और इस सिलसिला में हुक्म भी जारी कर दिया गया।

प्रिंसिपल सेक्रेटरी (दाख़िला) जी एस संधू ने ये बात बताई। इसी तरह जोधपुर जेल सुप्रीटेंडेंट को भी हुक्म जारी करते हुए हुकूमत ने दोनों मुल्ज़िमीन को जोधपुर से बाहर दीगर शहरों में मौजूद जेलों में मुंतक़िल करने की हिदायत की। याद रहे कि भंवरी देवी जो एक नर्स थी, गुज़शता साल यक्म सितंबर से लापता थी, जिस पर इस के शौहर अमरचंद (जो ख़ुद अब जेल में है) ने हाइकोर्ट में एक दरख़ास्त दाख़िल की थी।

भंवरी देवी ने कई बड़े सियासतदानों से नाजायज़ ताल्लुक़ात क़ायम करते हुए उन्हें ब्लैक मेल करने की कोशिश की थी जिसका नतीजा उसे अपनी जान दे कर भुगतना पड़ा। इसकी नाश को जला कर एक नहर में फेंक दिया गया जहां से तलाशी के बाद उसकी हड्डियां बरामद की गई थी। फोरेंसिक़ (forensic ) रिपोर्ट के बाद मदेरणा और मलखान सिंह को क़सूरवार ठहराया गया था। ये लोग कुछ अर्से तक मफ़रूर थे, लेकिन बादअज़ां ख़ुद सुपुर्दगी इख्तेयार कर ली थी।

TOPPOPULARRECENT