Wednesday , January 17 2018

भजपा नेता के बेटे ने महिलाओं से अवैध संबंध बनवाकर करता था ब्लैकमेल, हुए गिरफ्तार

जयपुर: एसओजी ने चार ऐसे गिरोहों का खुलासा किया है, जो महिलाओं से अवैध संबंध बनवाकर दुष्कर्म का केस करवाने की धमकी देकर और फिर समझौते के नाम पर ब्लैकमेलिंग कर लाखों का वसूली किया कर्ता था. इन गिरोहों में से दो बड़े गैंग को बनाने और बढ़ाने में एक सरकारी वकील का हाथ है. पकड़े गए सरगना बीजेपी नेता का बेटा और सरकारी वकील अनिल यादव हैं.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

इंडिया संवाद के अनुसार, सरकार ने अनिल यादव को 11 फरवरी 2014 को राजस्थान हाईकोर्ट की जयपुर बैंच में सरकारी अधिवक्ता के तौर पर नियुक्त की थी. उनके पिता भी अधिवक्ता हैं और लंबे समय से भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता भी रहे हैं. भाजपा ने जयपुर में वार्ड वाइज वकील नियुक्त किए थे. पिता के भाजपा नेता होने के चलते ही एडवोकेट अनिल यादव को सरकार ने हाईकोर्ट में सरकारी वकील की नियुक्त दी.

बता दें कि शनिवार को एसओजी ने गोविंदगढ़ निवासी महेश कुमार यादव, मुरलीपुरा निवासी पूनम कंवर और मालवीयनगर निवासी वंदना भट्ट को गिरफ्तार किया था. गिरोह के सरगना एडवोकेट अनिल यादव अभी फरार है, उसकी गिरफ्तारी के प्रयास जारी है. ज्ञात हो कि गिरोह दुष्कर्म के झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर मार्बल व्यवसायी से 10 लाख रुपए हड़प लिए. व्यवसायी ने एसओजी में रिपोर्ट दर्ज करवाई. गिरोह ने एक साल में 6 रसूखदार लोगों को ब्लैकमेल कर 60 लाख रुपए वसूले थे.

उल्लेखनीय है कि युवतियां मसाज पार्लर में व्यक्ति को फंसा लेती थीं. संबंध बनाने के दौरान सबूत एकत्रित कर लेती. इसके बाद गिरोह के सरगना एडवोकेट अनिल यादव व महेश यादव संबंधित व्यक्ति को फोन करते थे. वे थाने में दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज करवाने की धमकी देकर रुपए ऐंठते थे.

TOPPOPULARRECENT