Monday , December 18 2017

भद्राचलम तेलंगाना का हिस्सा मर्कज़ी वज़ीर का बयान

मर्कज़ी वज़ीर बलराम नाविक और रियासती वज़ीर राम रेड्डी वेंकट रेड्डी ने आज कहा कि भद्राचलम के बगैर तेलंगाना रियासत का कोई तसव्वुर नहीं है। मर्कज़ी वज़ीर एस जय‌ पाल रेड्डी की क़ियामगाह पर तेलंगाना के कांग्रेस क़ाइदीन के इजलास के बाद मीडि

मर्कज़ी वज़ीर बलराम नाविक और रियासती वज़ीर राम रेड्डी वेंकट रेड्डी ने आज कहा कि भद्राचलम के बगैर तेलंगाना रियासत का कोई तसव्वुर नहीं है। मर्कज़ी वज़ीर एस जय‌ पाल रेड्डी की क़ियामगाह पर तेलंगाना के कांग्रेस क़ाइदीन के इजलास के बाद मीडिया से बात चीत करते हुए उन्होंने कहा कि भद्राचलम तेलंगाना का अटूट हिस्सा है।

उन्होंने मुतालिबा किया कि भद्राचलम को तेलंगाना रियासत का हिस्सा बनाया जाये। उन्होंने बताया कि इस मुतालिबे की ताईद में ज़िला खम्मम में 19 नवंबर को बंद का एहतिमाम किया जा रहा है। इस दौरान तेलंगाना जय ए सी और भद्राचलम ड्वेन जर्नलिस्ट्स एसोसीएशन‌ की जानिब से मालना 72 घंटों के बंद का आज आख़िरी दिन है।

72 घंटों के बंद का ज़िला में कामयाब इनीक़ाद अमल में आया। वाज़िह रहे कि भद्राचलम के मसले पर हालिया दिनों में तनाज़ा पैदा होगया है और तेलंगाना के मुख़्तलिफ़ क़ाइदीन मुसलसल इसरार कर रहे हैं कि भद्राचलम को तेलंगाना के साथ बरक़रार रखा जाये जबकि सीमा आंध्र‌ से ताल्लुक़ रखने वाले क़ाइदीन उसकी मुख़ालिफ़त कर रहे हैं।

आज तेलंगाना के कांग्रेस क़ाइदीन का नई दिल्ली में मर्कज़ी वज़ीर जए पाल रेड्डी की क़ियामगाह पर इजलास मुनाक़िद हुआ जिस में विज़ारती ग्रुप से की जाने वाली नुमाइंदगी पर ख़्याल किया गया।

TOPPOPULARRECENT