Friday , July 20 2018

भागलपुर दंगा: वारंट जारी होने के बावज़ूद नहीं हो रही है अर्जित चौबे की गिरफ्तारी, नीतीश सरकार पर उठ रहे हैं सवाल

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत चौबे की गिरफ्तारी की मांग और भोजपुर के दो पत्रकारों की हत्या के मामले को लेकर बिहार विधानसभा में आरजेडी के सदस्यों ने नारेबाजी और प्रदर्शन किया।

आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने नीतीश कुमार से इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि नीतीश कुमार केंद्रीय मंत्री की मदद करने में लगे हैं. उन्होंने कहा कि पूरे बिहार में स्थिति काफी दयनीय है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि गिरफ्तारी वारंट जारी होने के बाद भी अर्जित शाश्वत कैसे आजाद घूम रहे हैं, नीतीश कुमार इसका जवाब दें। वहीं राबड़ी देवी ने नीतीश सरकार और पत्रकारों की हत्या पर कहा कि बिहार में कहीं भी कानून का राज नहीं है। हर जगह हत्या, लूट और महिलाओं के साथ अत्याचार जारी है।

विपक्ष द्वारा अश्विनी चौबे के बेटे को सरकार के संरक्षण के आरोप पर बीजेपी विधायक नितिन नवीन ने कहा कि सरकार किसी को नहीं बचाती है। अर्जित शाश्वत पर एफआईआर हमारी ही सरकार ने दर्ज की है और कार्रवाई भी हमारी ही सरकार करेगी।

भागलपुर दंगा के आरोपी अश्विनी चौबे के बेटे पर वारंट जारी होने के बाद खुलेआम पटना में घूमने के मामला पर पूर्व मंत्री विजय प्रकश ने कहा कि अपराधी खुलेआम सरकार को चुनौती दे रहे हैं। सरकार ने अपराधियों के आगे घुटने टेक दिए हैं।

भोजपुर में पत्रकारों की हत्या के मामले पर तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार और मोदी सरकार पर निशाना साधा।

वहीं लोक स्वस्थ्य अभियंत्रण मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा कि बिहार में सरकार किसी की मदद नहीं करती है। यदि ऐसा होता तो अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत पर वारंट भी नहीं निकलता। उन्होंने कहा कि भोजपुर में पत्रकारों की हत्या की पूरी जांच की जाएगी।

जदयू नेता संजय सिंह ने कहा कि बिहार में कानून का राज है, कोई बचेगा नहीं। उन्होंने कहा कि रहा सवाल राबड़ी और राजद तेजस्वी का तो उन लोगों में लालू वाला संस्कार भरा हुआ है।

TOPPOPULARRECENT