भाजपा ने विधायकों को लालच दिया, तोड़ने की कोशिश में हुए नाकाम- कमलनाथ

भाजपा ने विधायकों को लालच दिया, तोड़ने की कोशिश में हुए नाकाम- कमलनाथ

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ(Kamalnath) ने गुरुवार को आरोप लगाया कि विपक्ष में बैठी भाजपा ने मंगलवार सुबह तक कांग्रेस और उसे समर्थन देने वाले विधायकों को प्रलोभन के जरिए तोड़ने या अपने पक्ष में लाने की कोशिश की, लेकिन वे कामयाब नहीं हो पाए।

कमलनाथ ने विधानसभा सत्र समापन के बाद विधानसभा परिसर में पत्रकारों से कहा कि भाजपा नेताओं ने कांग्रेस और उसे समर्थन देने वाले विधायकों को अपने पक्ष में लाने की पूरी कोशिश की, लेकिन वे सफल नहीं हो पाए। यह बात उन्होंने स्वयं ही उनके नेताओं को बताई, जब वे उनसे मिलने आए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसलिए उनकी पहली प्राथमिकता सदन में अध्यक्ष के चुनाव के जरिए बहुमत साबित करने की रही थी और उन्होंने उसे पूरा कर दिखाया।

कमलनाथ ने कहा कि अध्यक्ष के चुनाव के दौरान पक्ष में 120 वोट पड़े। एक वोट प्रोटेम स्पीकर दीपक सक्सेना का था, जिन्होंने वोट नहीं डाला। इस तरह कांग्रेस सरकार ने साबित कर दिया कि उसे सभी 121 विधायकों का समर्थन हासिल है।

कांग्रेस पूर्ण बहुमत वाली सरकार
मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा कहती है कि सरकार अल्पमत में है, लेकिन अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव से साबित हो गया है कि कांग्रेस पूर्ण बहुमत वाली सरकार है। भाजपा इस खुलासे से बचने के लिए प्रयास करती रही। इसी के तहत उसने सदन में हंगामा किया।

Top Stories